सौंफ के फायदे – Saunf Ke Fayde In Hindi

सौंफ के फायदे – Benefits of Fennel (Saunf) in Hindi


1. तेज ज्वर होने पर तीन चम्मच सौंफ दो कप पानी में उबाल कर दो-दो चम्मच बार-बार पिलाते रहने से बुखार का तापमान नहीं बढ़ता।

2. मिश्री, सौंफ, सूखा धनिया प्रत्येक 50 ग्राम को डेढ़ किलो पानी में प्रातः भिगो दें। शाम को छानकर इन्हें पीसकर इसी पानी में घोलकर छान कर पीयें। एक बार में नहीं पीया जाये तो कुछ समय बाद पुन: पीयें। इसी प्रकार शाम को भिगोकर प्रातः तैयार करके पीयें। इससे पेशाब खुलकर आयेगा। पथरी निकल जायेगी।

3. जीरा, सौंफ, धनिया प्रत्येक एक चम्मच को एक गिलास पानी में उबालें। आधा पानी रहने पर छान कर एक चम्मच देशी घी मिलाकर नित्य सुबह-शाम पीने से बवासीर से रक्त गिरना बन्द हो जाता है। यह गर्भवती स्त्रियों के बवासीर में अधिक लाभदायक है।

4. सौंफ और धनिया समान मात्रा में पीस लें। इसमें डेढ़ गुना घी और दुगुनी चीनी मिलाकर रख लें। सुबह-शाम 30-30 ग्राम सेवन करें। हर प्रकार की खुजली में इससे लाभ होता है।

5. 10 ग्राम सौंफ आधा किलो पानी में उबालें, चौथाई पानी रहने पर छानकर 250 ग्राम दूध और 15 ग्राम घी तथा स्वादानुसार चीनी मिला कर सात सोते समय पिलाये नीद अच्छी आएगी।

6. दही में पिसी हुई काली मिर्च, सौंफ तथा चीनी मिलाकर खाने से नींद आ जायेगी।

7. बच्चे के दांत निकलते समय यदि बच्चा रोता हो तो दो चम्मच मोटी सौंफ एक कप पानी में उबाल कर छान लें। इसकी एक-एक चम्मच चार बार पिलायें। सौंफ का पानी दूध मिलाकर भी पिला सकते हैं। इससे दांत सरलता से निकल आयेंगे।

8. सुबह सात बादाम खाकर ऊपर से सवा सौ ग्राम गाजर का रस, आधा किलो दूध में मिलाकर पीने से याददाश बढ़ती है।

9. सौफ को हल्की-हल्की कूट कर ऊपर के छिलके उतार कर छान लें। इस तरह अन्दर की मींगी निकाल कर एक चम्मच सुबह-शाम दो बार ठण्डे पानी से या गर्म दूध से फँकी लें। इसके सेवन से स्मरणशक्ति बढ़ती है, मस्तिष्क में शीतलता रहती है।

10. सौंफ का तेल पाँच बूँद आधा चम्मच चीनी डालकर नित्य चार बार लेने से आँव आना बन्द हो जाता है।

11. सौ ग्राम सौंफ को सेककर पीस लें। इसमें सौ ग्राम पिसी हुई मिश्री मिलायें। भोजन के बाद इसकी दो चम्मच सुबह-शाम ठण्डे पानी से फंकी लें।ऑव आना बंद हो जायेगा