पागलपन (मानसिक रोग) दूर करने के घरेलू उपाय – Remedies For Mental Illness In Hindi

पागलपन (मानसिक रोग) दूर करने के घरेलू उपाय - Remedies For Mental Illness In Hindi

पागलपन (मानसिक रोग) दूर करने के घरेलू उपाय – Remedies For Mental Illness In Hindi


1. 15 ग्राम अनार के ताजे हरे पत्ते, 15 ग्राम गुलाब के ताजे फूल, 500 ग्राम पानी में उबालें। चौथाई पानी रहने पर छानकर 20 ग्राम देशी घी मिलाकर नित्य पीयें। इससे पागलपन के दौरों में लाभ होता है।

2. इलाहाबादी मीठे अमरूद 250 ग्राम प्रात: और शाम को 5 बजे नित्य 6 सप्ताह खाये। नीबू, कालीमिर्च, नमक स्वाद के लिए अमरूद पर डाल सकते है। इससे मस्तिष्क का माँस-पेशियों को शक्ति मिलेगी, गर्मी निकल जायेगी, पागलपन दूर होगा।

3. आधा चम्मच अजवाइन पिसी हुई, चार मुनक्का के साथ पीसकर आधा कप पानी में घोल कर दो बार नित्य लम्बे समय तक पिलाने से पागलपन दूर होता है।

4. पित्त (गर्मी) के कारण पागलपन हो तो शाम को एक छटाँक चने पानी में भिगो दें। प्रातः पीसकर खाँड (Sugar) और पानी मिलाकर एक गिलास भरकर पीने से लाभ होता है। चने की भीगी हुई दाल का पानी पिलाने से भी पागलपन ठीक हो जाता है।

5. होम्योपैथी में लाल मिर्च से बनी औषधि कैप्सीकम एनम मदर टिंचर की कुछ बूंदें पागलपन के दौरे में नाक में डालने से होश आ जाता है।

6. 12 काली मिर्च, तीन ग्राम ब्राह्मी की पत्तियाँ पीस कर आधा गिलास पानी में छान कर नित्य दो बार पीने से पागलपन ठीक हो जाता है।

7. यदि वहम की तीव्रता से पागलपन हो तो तरबूज के रस का एक कप, दूध एक मिश्री तीस ग्राम मिलाकर, एक सफेद बोतल में भरकर रात को खुले में चाँदनी में किसी सलटका दें। प्रात: भूखे पेट रोगी को पीला दें। ऐसा 21 दिन करने से वहम दूर हो जायेगा।