प्याज के फायदे – Pyaj (Onion) ke Fayde in Hindi

प्याज के फायदे – Pyaj (Onion) ke Fayde in Hindi


1. प्याज के रस को रुई की सहायता से निशान वाली जगह पर लगाने से निशान हट जाते है।

2. प्याज काटकर, उस पर नीबू निचोड़ कर भोजन के साथ खाने से अजीर्ण दूर होता है।

3. अदरक और प्याज का रस दो चम्मच पिलाने से उल्टी बन्द हो जाती है।

4. पेट में कीड़े होने पर प्याज का रस एक चम्मच दो-दो घण्टे पर पिलाने से कीड़े मर जाते हैं।

5. प्याज काटकर नीबू के रस में डाल दें। ऊपर से नमक, काली मिर्च डाल दें। सुबह-शाम एक प्याज खाने से पीलिया रोग दूर होगा।

6. कच्चा प्याज बार-बार खाने से पेशाब ज्यादा होता है और जलोदर के लिए यह एक अच्छी औषधि है।

7. कटे प्याज पर नमक डालकर हर घंटे खाने से हिचकी बन्द हो जाती है।

8. आधा चम्मच प्याज के रस में 1 छोटा चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार लेंने से खांसी ठीक हो जाती है।

9. प्याज को कूटकर सूंघने से खाँसी, गले के रोग, टान्सिल, फेफड़े के कष्ट दूर होते हैं।

10. दमा के दौरे के समय ऐसा प्रयास करना चाहिए जिससे कफ पतला होकर निकले। कफ निकलने पर ही रोगी को आराम मिलेगा। तुलसी के रस में बलगम को पतला कर निकालने का गुण है। तुलसी का रस, शहद, अदरक का रस, प्याज का रस मिलाकर लेने से दमा में बहुत लाभ होता है।

11. प्याज का रस लगाने से जुएं पूरी तरह से साफ हो जाते हैं।

13. गंज के स्थान पर प्याज का रस रगड़ते रहने से बाल दुबारा पैदा होने लग जाते हैं।

14. प्याज को पीसकर बालों पर लेप करने से बाल काले रंग के उगने शुरू हो जाते है।

15. प्याज का रस बार-बार पीने से भी टाइफाइड बुखार ठीक हो जाता है।

16. प्याज के रस में चीनी डालकर शर्बत बनाकर पीने से पथरी कट-कटकर बाहर आ जाती है।

17. एक किलो पानी में, 45 ग्राम प्याज के टुकड़े डालकर उबालें। इसे छानकर शहद मिलाकर नित्य 3 बार पिलाने से पेशाब खुलकर तथा बिना कष्ट के आता है।

18. प्याज एवं पुदीने का रस मिलाकर नाक में डाल देने से नकसीर ठीक हो जाती है।

19. कच्चा प्याज खाने से बिना खून वाली बवासीर और खून के साथ वाली बवासीर दोनों ठीक हो जाती हो जाती है।

20. प्याज का सेवन रक्तस्रावी और अरक्तस्रावी, दोनों प्रकार के अर्श ठीक करता है।

21. यदि नींद नहीं आती हो तो कच्चा प्याज या पकाया हुआ प्याज या गरम राख में प्याज सेक कर इसका रस चार चम्मच पीयें या प्याज खायें। इससे नींद अच्छी आयेगी।

22. दस ग्राम सफेद प्याज का रस, अदरक का रस आठ ग्राम, शहद पाँच ग्राम, घी तीन ग्राम मिलाकर रात्रि को सोते समय पीने से स्वप्न-दोष नहीं होता।

23. जिनके हृदय की धड़कन बढ़ गई हो, हृदय रोगों से बचना चाहते हैं, वे एक कच्चा प्याज नित्य खाना खाते समय खायें। इससे धडकन सामान्य हो जायेगी।

24. स्त्रियों के हिस्टीरिया या बेहोश होने पर प्याज का रस सुँघाने से होश में आ जाती हैं।

25. भोजन के साथ कच्चे प्याज का सेवन अधिक मात्रा में करने से माताओं का दूध बढ़ता है।

26. प्याज का रस तथा सरसों का तेल समान मात्रा में मिला कर दर्द ग्रस्त अंगों पर मालिश करने से लाभ होता है।

27. दांत में दर्द या मसूढ़ों में पीड़ा होने पर प्याज का टुकड़ा उस जगह रख देने से दर्द दूर हो जाता है।

28. प्याज के रस को आँखों में डालते रहने से नेत्र ज्योति बढ़ती है।

29. किसी भी नशे में धुत्त व्यक्ति को एक कप प्याज का रस पिलाने से नशा बहुत कम हो जाएगा।

30. प्याज को भूनकर इसके रस को कान में डालने से राहत मिलती है।

31. टमाटर, नमक और प्याज के साथ खाने से मोटापा धीरे-धीरे कम होने लगेगा।

32. प्याज को आग में गरम करके कूटकर रस निकाल कर उसमें एक ग्राम नमक मिलाकर पिलाने से पेट दर्द ठीक होता है।

33. ऐंठन होने पर और झटके लगने पर प्याज के गर्म- गर्म रस पाव तलूओ पर मालिश करने से आराम होता है

34. स्त्रियों के हिस्टीरिया या बेहोश होने पर प्याज का रस सुंघाने से वे होश में आ जाती हैं। मूर्छा भी इससे ठीक हो जाती है।

35. लू लगने पर प्याज के रस को कनपटियों और छाती पर मालिश करने और पीने से लाभ होता है।

36.गर्मी में प्याज दो बार नित्य खाने और पास रखने से लू नहीं लगती।

37. कच्चा प्याज पीसकर बाँधने से या लेप लगाने से बिवाइयां ठीक हो जाती है।

38. पित्ती दोष में प्याज खाने से लाभ होता है।

39. प्याज के बीज नीबू के रस में पीस कर नित्य दो बार दाद पर लम्बे समय (एक दो माह) तक लगाने से दाद ठीक हो जाता है।

40. कत्ते द्वारा काटे गए अंग को साबुन से धोयें। और काटे हुए पर निशान पर अखरोट, प्याज और नमक बराबर मात्रा में पीसकर शहद में मिलाकर लेप करके पट्टी बाँध दें।