उदयपुर के पर्यटन स्थल

उदयपुर के पर्यटन स्थल

May 21,2021 08:24 AM posted by Admin

उदयपुर शहर की स्थापना सन 1559 में महाराणा उदयसिंह ने की थी। अरावली पर्वतमाला से घिरे इस शहर को 'झीलों की नगरी' 'पूर्व का वेनिस' तथा 'राजस्थान का कश्मीर' आदि नामों से भी जाना जाता है।

उदयपुर में घूमने की जगह - Tourist places in Udaipur in hindi

लेक पैलेस, गुलाब बाग, फतेह सागर झील, नेहरू उद्यान, महाराणा प्रताप स्मारक, सहेलियों का बाड़ी, भारतीय लोक कला मंडल. राजमहल (सिटी पैलस, जगदीश मंदिर, दूध तलाई पार्क, शिल्प ग्राम, सज्जनगढ़ पैलेस।

लेक पैलेस - Lake Palace Tourist place

इस खूबसूरत जल महल का निर्माण महाराणा जगतसिंह-द्वितीय ने सन् 1754 में टोला झील के मध्य में स्थित एक टापू पर करवाया था। सन् 1950 में इस महल को पांच सितारा होटल में परिवर्तित कर दिया गया। यह महल विश्व के सुंदरतम महलों की गिनती में आता है।

इस महल की दीवारों पर सुंदर चित्रकारी की गई है। यहां पहुंचने के लिए मोटरबो नाव आदि की सुविधा हर समय उपलब्ध रहती है। चांदनी रात में पिछोला झील में नौ विहार का अपना अलग ही मजा है।

गुलाब बाग - Gulab Bagh Tourist place

इस विशाल पार्क की स्थापना महाराणा सज्जन सिंह ने सन 1881 में की थी। बाग को बच्चे बहुत पसंद करते हैं, क्योंकि यहां उनके मनोरंजन के लिए छोटे चिड़ियाघर के साथ-साथ छोटी रेलगाड़ी (टॉय ट्रेन) भी है, जो पूरे पार्क का चक्कर लगाती है।

फतेह सागर झील - Fateh Sagar Lake Tourist place

यह झील उदयपुर का सबसे खूबसूरत स्थान है। यहां चेतक सर्कल से सीधा पंहुचा जा सकता है। इस झील की लंबी, सपीली, कोलतार की चिकनी सडक पर सैर करने का अपना ही लुत्फ है।

नेहरू द्वीप उद्यान - Nehru Garden Tourist place

फतेह सागर झील के बीचोबीच स्थित एक टापू पर नेहरू पार्क को विकसित किया गया है, जो पर्यटकों को दूर से ही आकर्षित करता है। यहां मोटर बोट में बैठकर पंहुचा जाता है। इस उद्यान में आई.टी.डी.सी. का एक रेस्टोरेंट भी है, जहां आप खा-पी सकते है।

महाराणा प्रताप स्मारक (मोती मागरी) - Maharana Pratap Smarak Tourist place

मोती मागरी फतेह सागर झील के पास ही स्थित है। इस हरी-भरी पहाड़ी पर के चढ़ने के लिए सड़क और सीढ़ियों का इस्तेमाल किया जाता है। यहां महाराणा प्रताप का स्मारक देखने योग्य है।

सहेलियों की बाड़ी - Saheliyon-ki-Bari Tourist place

फतेह सागर झील के पास बने इस बाग में सुंदर-सुंदर पेड़-पौधे और संगीतमय फव्वारे अत्यंत मनोहारी दृश्य प्रस्तुत करते हैं। इस बाग का निर्माण उदयपुर के महाराजा ने अपने परिवार की महिलाओं के मनोरंजन के लिए करवाया था। यह स्थल सुबह 9 बजे से सायं 6 बजे तक खुला रहता है तथा यहां प्रवेश के लिए टिकट लेना पड़ता है।

भारतीय लोक कला मंडल - Bhartiya Lok Kala Mandal Tourist place

भारतीय लोक कला मंडल 'चेतक सर्कल' से सीधे पहुंचा जा सकता है। लोक-कला को संरक्षण देने व उन्नत करने वाले इस केंद्र में लोक-परिधानों, आभूषण, मुखोटो, गुडिया, लोक वाद्यों तथा लोक चित्रकारी का विपुल संग्रह है। यह संस्थान देश-विदेश में अपने नृत्य-नाट्य व कठपुतली के प्रदर्शन भी करता है। 

राजमहल (सिटी पैलेस) - Raj Mahal Palace Tourist place

पिछोला झील के किनारे पर सफेद संगमरमर से बना यह महल प्राचीन कला में रूचि रखने वालों के लिए आकर्षण का केंद्र है। यह महल राजस्थान के विशाल महलों में एक है। सुबह साढ़े नौ बजे से सायं साढ़े चार बजे तक खुलने वालो इस महल में टिकट लेकर जाना पड़ता है।

जगदीश मंदिर - Jagdish Temple Tourist place

सन 1651 में बना यह मंदिर उदयपुर के प्राचीन मंदिरों में एक है। इस मंदिर तक राजमहल से सीधे पहुंचा जा सकता है। - इस मंदिर का आकार, शिल्पकला और पत्थरों को तराशकर बनाई गई मूर्तियां देखने योग्य हैं।

दूध तलाई पार्क - Dooh Talai park Tourist place

गुलाब बाग के पास बना यह पार्क अभी कुछ सालों पहले ही विकसित किया गया है। माछाला मगरा (मछली जैसी पहाड़ी) की तलहटी में बसाए गए इस पार्क का एक सिरा तलाई नामक ताल के किनारे है। संभवतः इसी वजह से इसका नाम दूध तलाई पार्क पड़ा है।

शिल्प ग्राम - Shilpgram Tourist place

यह एक कृत्रिम गांव है, जो 70 एकड़ भूमि में विकसित किया गया है। यहां आकर ऐसा प्रतीत होता है जैसे हम किसी वास्तविक गांव के हाट-बाजार में खड़े हैं। यहां झोपडियां, घास-फूस के छप्पर तथा यहां वहां चबूतरों को देखने का अपना अलग मजा है।

सज्जनगढ़ पैलेस - Sajjangarh Monsoon Palace Tourist place

पैलेस आफ मानसून' के नाम से जाना जाने वाला यह पैलेस शहर के पश्चिम एक ऊची पहाड़ी पर स्थित है। यह स्थान समुद्रतल से 3,100 फुट ऊंचा है। इस पैलेस का निर्माण 18वीं सदी में हुआ था। यहां से उदयपुर बहुत खूबसूरत दिखाई देता है।

उदयपुर कैसे जाएं?

हवाई अड्डा : उदयपुर का नजदीकी हवाई अड्डा 'डबोक' है जो शहर से 25 किलोमीटर दूर है। देश के प्रमुख शहरों से यहां के लिए सीधी विमान सेवाएं उपलब्ध हैं।

सड़क मार्ग : उदयपुर नगर राष्ट्रीय राजमार्ग 8 पर स्थित है। यहां के लिए निकटवर्ती प्रदेशो व आस-पास के सभी प्रमुख शहरों के लिए सीधी बस सेवाएं उपलब्ध है।

उदयपुर  कब जाएं?

यहां घूमने के लिए सितंबर से मार्च तक का समय सबसे अच्छा है।