शिमला के पर्यटन स्थल

Apr 04,2021 06:29 AM posted by Admin

भारत का सबसे पुराना पर्वतीय पर्यटन स्थल 'शिमला' हिमालय की चंद्राकार पहाड़ी पर समुद्र तल से लगभग 2,213 मीटर की ऊंचाई पर बसा शिमला शहर हिमाचल प्रदेश की राजधानी होने के साथ-साथ भारत देश का एक पुराना पर्वतीय पर्यटन स्थल भी है। सन 1948 से पहले शिमला भारत की ग्रीष्मकालीन राजधानी थी। अंग्रेजों के जमाने में शिमला वायसराय का ग्रीष्मकालीन निवास स्थल भी था। बहुत पहले शिमला नेपाल के अधीन था। इसे अंग्रेजों ने नेपाल के महाराजा से लड़ाई में जीतकर अपने कब्जे में किया था। सन् 1819 में लेफ्टीनेंट रोस ने यहां रहने के लिए जहां लकड़ी की एक कॉटेज बनवाई थी, वहीं सन् 1821 में मेजर कैनेडी ने यहां रहने के लिए एक आलीशान कोठी का निर्माण करवाया था। सन् 1829 में लॉर्ड एम्हर्स्ट के बाद से तो यहां यूरोपियन बसने ही लगे थे।

सन् 1947 से सन् 1953 तक शिमला पूर्वी पंजाब का मुख्यालय रहा था। सन् 1966 में पंजाब और हरियाणा के बंटने के बाद से यह शहर हिमाचल प्रदेश की राजधानी के रूप में विकसित हुआ था। शिमला प्रत्येक मौसम में पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। यहां की हरी-भरी पहाड़ियां, निर्मल झरने, शांत झीलें, ऊंची चोटियां सैलानियों को अपने मोहपाश में ऐसे बांध लेती हैं कि इनसे दूर होने का मन ही नहीं होता।शिमला में सर्दियों के मौसम को 'लोंग मून नाइट्स' यानी लंबी चांदनी रातों का मौसम कहते हैं। यहां एशिया का एकमात्र और अपनी तरह का एक आइस स्केटिंग रिंग भी है।

शिमला के पर्यटन स्थल - Tourist places in Shimla in Hindi

पहाड़ी मनोरंजन स्थल, हस्तकलाएं, राज्य की राजधानी : कुफरी, जाखू हिल , चाडविक जलप्रपात, समर हिल, राज्य संग्रहालय 'क्रेगनानो, चैल, नारकंडा, नालदेहरा, गेइटी थिएटर, प्रास्पैक्ट हिल, हिमालयन पक्षीशाला, वायसरीगल लॉज, आकलैंड हाउस वार्नस कोर्ट, ग्लेन, तत्तापानी एवं वाइल्ड फ्लावर हॉल। 

कुफरी - Kufri Tourist place

कुफरी शिमला से 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक अत्यंत सुंदर स्थान है । फरवरी-मार्च में यहां होने वाले खेल एवं उत्सव पर्यटकों को आकर्षित करते है । स्कीइंग के शौकीन लोगों के लिए कुफरी बहुत ही उपयुक्त जगह है। गर्मियों के मौसम में यहां याक की सवारी करने का अपना ही मजा है।

जाखू हिल - Jakhu Hill Tourist place 

कुफरी हिल शिमला से 2 किलोमीटर दूरी पर स्थित जाखू हिल की ऊंचाई 2455 मीटर है। यह शिमला की सबसे ऊंची जगह है। यहां एक तरफ से पूरे शहर का भव्य नजारा नजर आता है, तो दूसरी तरफ हिमालय पर्वत शृंखलाओं की भव्य झांकी दिखाई देती है। यहां पहुंचने के लिए खड़ी चढ़ाई चढ़नी पड़ती है। वैसे जो लोग अपने वाहन द्वारा इस पहाडी पर पहुंचना चाहते हैं, उन्हें 5 किलोमीटर का अतिरिक्त फासला सड़क मार्ग से तय करना पड़ता है। यहां हनुमान का एक प्राचीन मंदिर है। यदि यहां बंदर आपको चैन से बैठने दें, तो आप घंटों शिमला शहर के अनुपम सौंदर्य का नजारा कर सकते हैं। 

चाडविक जलप्रपात - Chadwick Falls Tourist place

शिमला से 7 किलोमीटर दूर यह एक बहुत ही मनोरम पिकनिक स्थल है। यह जलप्रपात सैलानियों का मन मोह लेता है। घनी झाड़ियों के बीच घिरे झरने के आस-पास हर समय पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है। यहां आकर सैलानी प्रकृति के सम्मोहन में बंध-से जाते हैं। 

समर हिल - Summer Hill Tourist place

यह शिमला से मात्र 4 किलोमीटर दूर है। यहां तारा देवी का एक मंदिर है, जो दर्शनीय

राज्य संग्रहालय - State Museum Tourist place

माल रोड पर स्थित इस संग्रहालय में समूचे हिमाचल प्रदेश की कला और संस्कृति से संबंधित वस्तुएं संग्रहीत हैं, जो राज्य के विभिन्न हिस्सों से लाई गई हैं। यह संग्रहालय सोमवार को बंद रहता है।

क्रेगनेनो - Craignano Nature Park Tourist place

पिकनिक के लिए मशहूर यह स्थान घास के मैदानों और बगीचों से घिरा हआ है। यहां ठहरने के लिए पहाड़ी के ऊपर एक विश्रामगृह भी है। 

चैल - Chail Tourist place

शिमला से 45 किलोमीटर और सागर तल से 2250 मीटर की ऊंचाई पर स्थित चैल भी अपने सबसे ऊंचे क्रिकेट के मैदान और महाराजा पटियाला के महल के लिए विख्यात है ।

नारकंडा - Narkanda Tourist place

यह स्थल शिमला सै 64 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां प्रतिवर्ष जनवरी से मार्च माह के दौरान पर्यटन विकास निगम द्वारा स्कीइंग का प्रशिक्षण कोर्स चलाया जाता है। यहां से बर्फ से ढका हिमालय पर्वत बेहद आकर्षक व मनमोहक दिखाई देता है। 

नालदेहरा - Naldehra Tourist place

ब्रिटिश शासन की स्मृतियां संजोए यह स्थल गोल्फ के मैदानों के लिए प्रसिद्ध है। इसकी शिमला से दूरी लगभग 22 किलोमीटर तथा समुद्र तल से ऊंचाई 2044 मीटर है। भारत का सबसे पुराना नौ छिद्रों का गोल्फ मैदान भी यहीं है। यहां का प्राकतिक सौंदर्य सैलानियों पर जादू का-सा असर करता है।

गेइटी थिएटर - Cinema Tourist place

शिमला के माल रोड पर स्थित गेइटी थिएटर शिमला की सर्वाधिक चर्चित इमारत है। यह थिएटर लंदन के मशहूर अलब्रेट हॉल की तर्ज पर बना हुआ है। यहां अनेक चर्चित नाटकों का मंचन हो चुका है। यह थिएटर वास्तुकला का भी अद्भुत नमूना है।

प्रॉस्पेक्ट हिल और कामना देवी - Prospect Hill And Kamna Devi Tourist place

शिमला से 5 किलोमीटर दूर और 2125 मीटर की ऊंचाई पर स्थित इस पहाड़ी पर कामना देवी का मंदिर है। बालूगंज से 15 मिनट की चढ़ाई के बाद यहां पहुंचा जा सकता है। यहां पर डूबते सूर्य और निकलते चांद के आकर्षक दृश्य सैलानियों को खासतौर से आकर्षित करते हैं।

हिमालयन पक्षीशाला - Bird Park Tourist place

शिमला आने वाले पर्यटकों को हिमालयन पक्षीशाला भी आकर्षित करती है। इस पक्षीशाला में मुख्यतः पर्वतीय पक्षियों को रखा गया है। यह माल रोड पर शहर से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। 

वायसरीगल लॉज - Viceregal Lodge Tourist place

यह शिमला का सबसे आलीशान भवन है, जो ब्रिटिश काल की स्मृतियां संजोए है। शिमला आने वाले पर्यटक इस ऐतिहासिक इमारत को देखना नहीं भूलते। 

ऑकलैंड हाउस - Auckland House Tourist place

शिमला में बने भवनों में यह सबसे प्राचीन है और इसे गवर्नर जनरल लॉर्ड आकलैंड के निवास स्थान होने का गौरव भी प्राप्त है। इसी स्थान पर लॉर्ड आकलैंड की बहन ने शिमला के संबंध में प्रथम पुस्तक लिखी थी। 

वार्नस कोर्ट - Court Tourist place

मोरिश स्टाइल में बना यह भवन कला प्रेमियों को सहसा ही आकर्षित करता है। इसका निर्माण ब्रिटिश सेना के कमांडर सर एडवर्ड वार्नस द्वारा सन् 1832 में करवाया गया था।

ग्लेन - Glenn Tourist place

शिमला से 4 किलोमीटर पर ग्लेन भी शिमला का एक मशहूर पर्यटन एवं पिकनिक स्थल है। गर्मी में यहां पिकनिक मनाने आए लोगों की काफी चहल-पहल रहती है।

तत्तापानी - Tatapani Tourist place

शिमला से 51 किलोमीटर दूरी पर स्थित तत्तापानी में झुरमुटों से घिरा गंधक के गर्म पानी का स्रोत है। यहां पर्यटक सार्वजनिक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में ठहर सकते है । 

वाइल्ड फ्लावर हॉल - Wildflower Hall Tourist place

देवदार और ऑक के वृक्षों के बीच से गुजरकर 'वाइल्ड फ्लावर' नामक इस जगह पर कभी वायसराय का निवास स्थान था, लेकिन अब इसे होटल बना दिया गया है। शिमला से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस स्थान को जाते समय पर्यटक विभिन्न पक्षियों की चहचहाटें सुन सकते हैं। 

शिमला कैसे जाए 

सड़क मार्ग : शिमला के लिए उत्तरी भारत के सभी प्रमुख नगरों से बस सेवाएं उपलब्ध है। परिवहन निगम की बसों के अलावा टूरिस्ट बसें भी उपलब्ध हैं। चंडीगढ़ से शिमला दूरी मात्र 116 किलोमीटर है। हिमाचल के बाहर से आने वाले पर्यटक चंडीगढ़ से ही यहां के लिए प्रस्थान सकते हैं।

कब जाएं?

बरसातों के मौसम को छोड़कर यहां किसी भी मौसम में जाया जा सकता है। जनवरी माह में यहां हिमपात का नजारा देखने के लिए भी बड़ी संख्या में सैलानी आते है ।