कौन सुखी है-अकबर बीरबल की कहानी

Apr 10,2021 12:39 AM posted by Admin

एक दिन बादशाह ने एक वस्त्रहीन आदमी को पूजा करते देख कर रानी प्रकट करते हए बीरबल से पूछा-संसार में कौन सुखी है। दुनिया के लोगों के अलग-अलग भेष और परमात्मा की अलग-अलग ढंग से पूजा को देख कर मैं हैरान हो गया हूं। तू तो विद्वान है इसलिए मेरी शंका का समाधान करो। इस बात का हल तो आदमी के मरने के बाद ही होता है। बीरबल ने उत्तर दिया।बादशाह यह बात सुनकर और भी हैरान हो गया।बीरबल ने बादशाह को समझाया कि जिस को आज हम सुखी देखते हैं, वही कल मुसीबत में पड़ कर दुःखी हो जाता है।

तब इसी हालात में जीते जी किसी मनुष्य को सुखी या दुःखी कैसे कह सकते हैं। कई लोग तो ऐसे हैं, जो ऊपर से सुखी नज़र आते हैं, लेकिन अन्दर से बहुत दुःखी हैं। इसलिए उनको भी सुखी नहीं कहा जा सकता। मेरे विचार में वही आदमी सुखी है, जो बिना किसी तकलीफ से मरे। बीरबल का यह उत्तर बादशाह को बहुत पसन्द आया। इस से खुश हो कर बादशाह ने उस को बहुत सा इनाम दिया।