Mehendi designs ideas 2021 | simple mehndi design Mehendi designs ideas 2021 | simple mehndi design


बेवफा शायरी - Bewafa Shayari In Hindi

Jul 23,2019 07:32 PM posted by Admin

बेवफा शायरी इमेज के साथ - Bewafa Shayari In Hindi With Photo Pic


मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ! मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ! पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ! क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ! Bewafa Shayari In Hindi वो निकल गए मेरे रास्ते से इस कदर कि, जैसे कि वो मुझे पहचानते ही नहीं, कितने ज़ख्म खाए हैं मेरे इस दिल ने, फिर भी हम उस बेवफ़ा को बेवफ़ा मानते ही नहीं। बेवफा शायरी - Bewafa Shayari In Hindi कहती है दुनिया जिसे प्यार नशा है , खताह है! हमने भी किया है प्यार , इसलिए हमे भी पता है! मिलती है थोड़ी खुशियाँ ज्यादा गम! पर इसमें ठोकर खाने का भी कुछ अलग ही मज़ा है! बेवफा शायरी - Bewafa Shayari In Hindi

बेवफा शायरी गर्लफ्रेंड के लिए - Bewafa Shayari For Girlfriend In Hindi


हर पल कुछ सोचते रहने की आदत हो गयी है, हर आहट पे चौंक जाने की आदत हो गयी है, तेरे इश्क़ में ऐ बेवफा, हिज्र की रातों के संग, हमको भी जागते रहने की आदत हो गयी है। वो छोड़ के गए हमें; न जाने उनकी क्या मजबूरी थी; खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं; ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी। प्यार में बेवाफाई मिले तो गम न करना; अपनी आँखे किसी के लिए नम न करना; वो चाहे लाख नफरते करें तुमसे; पर तुम अपना प्यार कभी उसके लिए कम न करना। अगर दुनिया में जीने की चाहत न होती, तो खुदा ने मोहब्बत बनायी न होती, इस तरह लोग मरने की आरजू न करते, अगर मोहब्बत में किसी की बेवफाई न होती।

बेवफा शायरी ग्रर्लफ्रेंड के लिए - Bewafa Shayari For Boyfriend In Hindi


हम तो तेरे दिल की महफ़िल सजाने आए थे; तेरी कसम तुझे अपना बनाने आए थे; किस बात की सजा दी तुने हमको बेवफा; हम तो तेरे दर्द को अपना बनाने आए थे। न पूछ मेरे सब्र की इन्तहां कहाँ तक है, तू सितम कर ले तेरी हसरत जहाँ तक है, वफ़ा की उम्मीद जिन्हें होगी उन्हें होगी, हमे तो देखना है तू बेवफा कहाँ तक है। दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है; सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है; उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता; उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है! इंसान के कंधो पर इंसान जा रहा था, कफ़न में लिपटा हुआ अरमान जा रहा था, जिसे भी मिली बेवफाई मोहब्बत में, वफ़ा कि तलास में शमसान जा रहा था। चेहरों के लिए आईने कुर्बान किये है; इस शौक में अपने बड़े नुकसान किये है; महफ़िल में मुझे गालियाँ देकर है बहुत खुश; जिस शख्स पर मैंने बड़े एहसान किये है।

बेवफा शायरी पत्नी के लिए - Bewafa Shayari For Wife In Hindi


मैंने कब कहा तू मुझे गुलाब दे... या फिर अपनी मोहब्बत से नवाज़ दे... आज बहुत उदास है मन मेरा..... गैर बनके ही सही तू बस मुझे आवाज़ दे...!! तुझे है मशक़-ए-सितम का मलाल वैसे ही, हमारी जान है जान पर बबाल वैसे ही, चला था जिक्र जमाने की बेवफ़ाई का, तो आ गया है तुम्हारा ख्याल वैसे ही। तेरी तो फितरत थी सबसे मोहब्बत करने की, हम बेवजह खुद को खुश नसीब समझने लगे। नज़र नज़र से मिलेगी तो सर झुका लेंगे, वो बेवफा है मेरा इम्तहान क्या लेगा, उसे चिराग जलाने को मत कह देना, वो ना समझ है कहीं उँगलियाँ जला लेगा।

बेवफा शायरी पति के लिए - Bewafa Shayari For Husband In Hindi


उसके चेहरे पर इस कदर नूर था, कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था, बेवफ़ा भी नहीं कह सकते उसको 'फराज़', प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था। दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है, सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है, उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता, उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है। जानते थे कि नहीं हो सकते कभी तुम हमारे, फिर भी खुदा से तुम्हें माँगने की आदत हो गयी, पैमाने वफ़ा क्या है, हमें क्या मालूम, कि बेवफाओं से दिल लगाने की आदत हो गयी। कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी, कभी याद आकर उनकी जुदाई मार गयी, बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने, आखिर में उसकी बेवफाई मार गयी।

दोस्त के बेवफाई शायरी हिंदी में - Bewafa Shayari For Friends In Hindi


नसीब बन कर कोई ज़िन्दगी में आता है, फिर ख्वाब बन कर आँखों में समा जाता है, यकीन दिलाता है कि वो हमारा ही है, फिर ना जाने क्यों वक़्त के साथ बदल जाता है। हर धड़कन में एक राज होता है बात को बताने का भी एक अंदाज होता है जब तक ना लगे ठोकर बेवाफाई की तब तक हर किसी को अपने प्यार पर नाज होता है…!! जाने मेरी आँखों से कितने आँसू बह गए, इंसानो की इस भीड़ में देखो हम तनहा रह गए, करते थे जो कभी अपनी वफ़ा की बातें, आज वही सनम हमें बेवफ़ा कह गए। एक ग़ज़ल तेरे लिए ज़रूर लिखूंगा, बे-हिसाब उस में तेरा कसूर लिखूंगा, टूट गए बचपन के तेरे सारे खिलौने, अब दिलों से खेलना तेरा दस्तूर लिखूंगा। तेरी चौखट से सर उठाऊँ तो बेवफा कहना, तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना, मेरी बफओं पे सक है तो खंजर उठा लेना, मै शौक से ना मर जाऊं तो बेवफा कहना।

व्हाट्सप्प के लिए बेवफा शायरी Bewafa Shayari For Whatsapp status In Hindi


कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे, हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे, वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए, हम तो बादल है प्यार के किसी और पर बरस जायेंगे!! आप बेवफा होंगे कभी सोचा ही नहीं था, आप कभी खफा होंगे सोचा ही नहीं था, जो गीत लिखे हमने कभी तेरे प्यार पर तेरे, वही गीत रुशवा होंगे सोचा ही नहीं था। जरूरी नहीं की हर रिश्ता बेवफाई के साथ ही खत्म हो कुछ रिश्तें किसी की ख़शी के लिए भी तोड़ने पड़ते हैं! वो सुना रहे थे अपनी वफाओं के किस्से, हम पर नजर पड़ी तो खामोश हो गये। मुझे मालूम है हम उनके बिना जी नहीं सकते, उनका भी यही हाल है मगर किसी और के लिए।

फेसबुक के लिए बेवफा शायरी हिंदी में - Bewafa Shayari For Facebook In Hindi


काम आ सकी न अपनी वफायें तो क्या करें, उस बेवफा को भूल न जाये तो क्या करे। मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है, अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना। इस दौर में की थी जिस से वफ़ा की उम्मीद, आखिर को उसी के हाथ का पत्थर लगा मुझे। रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लिपट के, ऐसा लगा के जैसे कभी बेवफा न थे वो। हर भूल तेरी माफ की तेरी हर खता को भुला दिया, गम है की मेरे प्यार का तू ने बेवफाई सिला दिया। मोहब्बत से भरी कोई गजल उसे पसंद नहीं, बेवफाई के हर शेर पे वो दाद दिया करते हैं।

दो लाइन वाली बेवफा शायरी - 2 Line Bewafa Shayari In Hindi


इधर हमसे भी बात लाख करते हैं लगावत की, उधर गैरों से भी कुछ बादे होते जाते हैं। बेवफाओं की इस दुनिया में संभल कर चलना, यहाँ मोहब्बत से भी बरबाद कर देतें हैं लोग। उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी, अगर उसमे वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने। अब देखिये तो किस की जान जाती है, मैंने उसकी और उसने मेरी कसम खायी है। फिर से निकलेंगे तलाश-ए-ज़िन्दगी में, दुआ करना इस बार कोई बेवफा न निकले। जब तक न लगे बेवफ़ाई की ठोकर दोस्त, हर किसी को अपनी पसंद पर नाज़ होता है। मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा, जिन्हें दावा था वफ़ा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा। कैसे यकीन करे हम तेरी मोहब्बत का, जब बिकती है बेवफाई तेरे ही नाम से। तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी, बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी। तेरी वफ़ा के तकाजे बदल गये वरना, मुझे तो आज भी तुझसे अजीज कोई नहीं।