पीरियड लाने का उपाय | मासिक धर्म खुलकर आने के घरेलू उपाय

Nov 17,2021 07:49 AM posted by Admin

पीरियड्स यानी कि मासिक धर्म महीने में एक बार आता है। लेकिन यदि मासिक धर्म बार- बार खुलकर न आए तो यह एक गम्भीर समस्या बन सकती है। लेकिन यदि पहली बार मासिक धर्म खुलकर नहीं आया तो इसमें घबराने की कोई बात नहीं। मासिक धर्म के दौरान ऐसा कभी-कभी हो जाता है। यदि आपको पीरियड्स यानी कि मासिक धर्म बार-बार खुलकर न आए तो इसका उपचार ज़रूर करे । तो आइए आपको हम कुछ घरेलू उपाय बातते है जिसके उपचार से आपको इस समस्या से निजात मिल जाएगा-

Health Tips in hindi, पीरियड में दर्द का इलाज, पीरियड में पेट दर्द की दवा, पीरियड्स में कमर दर्द का इलाज, पीरियड में पेट दर्द के उपाय,मासिक धर्म के समय दर्द के उपाय,मासिक धर्म के समय दर्द की दवा, मासिक धर्म के दर्द का घरेलू उपचारperiod me pet dard ka gharelu ilaj, period me pet dard ka ilaj,mahwari me pet dard, home remedies for period pain,natural remedies for periods

माहवारी खुलकर आने के घरेलू उपाय - Masik Dharm Khulkar Aane Ke Gharelu Upay In Hindi

1.मूली के बीजों को पीसकर 4-4 ग्राम सुबह, दोपहर और शाम तीन बार गर्म पानी से फंकी लेने से मासिक धर्म खुलकर आता है, दर्द ठीक भी हो जाता है।

2.  मासिक धर्म में दर्द हो तो हींग का सेवन करने से लाभ देता है।

3. गुड़ और अजवाइन घी में हलवे की तरह बनाकर खाने से दर्द एवं रुककर आने वाला मासिक-धर्म ठीक हो जाता है।

4.नीम के पत्तों का रस 6 ग्राम, अदरक का रस 12 ग्राम, इतने ही पानी में मिलाकर पिलायें। मासिक-धर्म में होने वाले दर्द में तुरन्त आराम मिलेगा।

5. मासिक धर्म न आता हो तो दो चम्मच गाजर के बीज और एक चम्मच गुड़ एक गिलास पानी में उबालकर रोजाना सुबह-शाम गर्म-गर्म पीवें तो इससे मासिक धर्म आयेगा तथा मासिक धर्म में होने वाला दर्द भी ठीक हो जावेगा।

6. चार चम्मच पिसी हुई राई को दो गिलास पानी में उबाल कर छानकर उसमें कपड़ा भिगोकर पेट का सेक करें। इससे मासिक स्राव खुलकर आता है, मासिक स्राव में होने वाला दर्द ठीक हो जाता है।

7.मूली के बीज, गाजर के बीज और दाना मेथी तीनों समान मात्रा में पीस, छानकर दो चम्मच गर्म पानी से फँकी दें।रुका हुआ पीरियड खुलकर आने लगता है।

8..काले तिल और गुड़ हरेक 15 ग्राम मिलाकर दो कप पानी में उबालकर छान लें। ठंडा होने पर नित्य पीयें। कुछ दिन पीते रहने से बन्द हुआ मासिक-स्राव आरम्भ हो जायेगा।

9. 50 नीम की कोपलों को एक गिलास पानी में उबालें। आधा पानी रहने पर छानकर पिलाने से मासिक-धर्म चालू हो जाता है।

10. मासिक-धर्म रुकने पर तुलसी के बीज एक चम्मच एक गिलास पानी में उबाल कर आधा पानी रहने पर पीने से मासिक-धर्म आने लगता है।

11.रुके हुए मासिक-धर्म को खुलकर लाने के लिए 6 ग्राम अजवाइन का चूर्ण दो बार गर्म दूध से दें।