नींबू के फायदे – Lemon (Nimbu) Benefits in Hindi

नींबू के फायदे – Lemon (Nimbu) Benefits in Hindi


1. गर्म पानी में नींबू डालकर पीने से सिर दर्द में राहत मिलती है।

2. एलर्जी वाली जगह पर नीबू लगाने से सही हो जाता है।

3. नीबू रस और शहद को गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से पेशाब दर्द ख़त्म हो जाता है।

4. नीबू और शहद को गर्म पानी में मिलाकर पीने से सूजन ख़त्म हो जाती है।

5. नीबू के रस में शहद मिलाकर चाटने से गले की समस्या दूर हो जाती है।

6. खाली पेट नीबू पानी पीने से कमर और पेट की चर्बी खत्म हो जाती है।

7. रुई से नीबू के रस को दाग वाली जगह पर लगाने से दाग-धब्बे खत्म हो जाते है।

8. अपच होने पर नीबू की फाँक पर नमक डाल कर गर्म करके चूसने पर खाना आसानी से पच जाता है। और साथ ही यकृत के समस्त रोगों में नीबू लाभदायक है।

9. प्याज काटकर, उस पर नीबू निचोड़ कर भोजन के साथ खाने से अजीर्ण दूर होता है।

10. एक चम्मच अदरक का रस , एक नीबू का रस और एक गिलास पानी में स्वादानुसार नमक मिला कर पीने से भूख अच्छी लगती है।

11. नीबू में शक्कर और काली मिर्च दोनों भरकर चूसने से उल्टी आनी बन्द हो जाती है।

12. नीबू के बीज को पीस कर चूर्ण बना लें और चौथाई चम्मच पानी के साथ दिन में एक बार 7 दिन लगातार लें। पेट के कृमि नष्ट हो जायेंगे।

13. 12 ग्राम नीबू का रस, 6 ग्राम अदरक का रस और 6 ग्राम शहद एक कप पानी में मिलाकर पीने से पेट दर्द ठीक हो जाता है।

14. नीबू की फाँक में काला नमक, काली मिर्च और जीरा भरकर गर्म करके चूसने से पेट का दर्द ठीक हो जाता है

15. खाना खाने से आधे घंटे पहले एक गिलास गर्म पानी मे नीबू निचोड़कर पीने से एसिडिटी ठीक हो जाती है।

16. पिसी हुई अजवाइन एक चम्मच , एक गिलास पानी, एक नीबू का रस मिलाकर पीने से पेट मे होने वाली एसिडिटी खत्म हो जाती है।

17. हफ्तेभर 4 नीबू का रस निकालकर खाली पेट पीने से पथरी की समस्या आसानी से दूर हो जाती है।

18. एक-एक चम्मच नीबू का रस और शहद में स्वादानुसार काला नमक मिलाकर पीने से हिचकी बन्द हो जाती है।

19. पुदीने के पत्ते या नीबू को चूसने से हिचकी आनी बन्द हो जाती है।

20. नीबू के चार भाग करें पर टुकड़े अलग न हों। एक में नमक, एक में काली मिर्च, एक में सौंठ, चौथे में मिश्री या शक्कर लगा दें, रात को प्लेट में रखकर ढक दें। सुबह तवे पर गम कर चूसने से यकृत (लीवर) सही होगा, भूख बढ़ेगी।

21. दमा का दौरा पड़ने पर गरम पानी में नीबू निचोड़कर पिलाने से लाभ होता है।

22. नीबू के रस की सिर में मालिश करने से जुएँ नष्ट हो जाती हैं।

23. लहसुन को पीसकर नीबू के रस में मिलायें। रात को सोते समय इसको सिर पर मलें। सबेरे साबुन से सिर धोयें। इस तरह पाँच दिन लगातार नित्य करने से जुएं मर जाती हैं।

24. नीबू के रस में पिसा हुआ सूखा आँवला मिलाकर सफेद बालों पर लेप करने से बाल काले होते हैं। इससे बालों के अन्य रोग भी ठीक हो जाते हैं।

25. आधा कप दही में दस पिसी हुई काली मिर्च, एक नीबू निचोड कर मिला लें। इसे बालों पर लगा लें और बीस मिनट रहने दें, फिर सिर धोएँ इससे बाल मुलायम और काले हो जायेंगे।

26. नीबू के रस से सिर में मालिश करके सिर धोने से बाल गिरना दूर हो जाता है।

27. उबलते पानी में नीबू निचोड़ कर पिलाने से। बुखार (ज्वर) का तापमान गिर जाता है।

28. नीबू में सेंधा नमक और काली मिर्च भरकर गरम करके चूसने से बुखार में लाभ होता है।

29. मलेरिया में नमक, काली मिर्च, नीबू में भरकर गर्म करके चूसने से बुखार की दूर हो जाता है।

30. प्यास अधिक होने पर पानी में नीबू निचोड़ कर पिलाने से मधुमेह में लाभ होता है। दिन में लगभग 3 बार करना है।

31. नीबू के बीजों को पीसकर नाभि पर रखकर ठण्डा पानी डालें। इससे रुका हुआ पेशाब होने लगता है।

32. नीबू को गर्म पानी में निचोड़कर कुल्ला करने से मुँह के छाले ठीक हो जाते है।

33. नकसीर आने पर नथुनों में दो-दो बूंद नीबू का रस टपकाने से नाक से रक्त गिरना तुरन्त बन्द हो जाता है।

34. नीबू काटकर दोनों फाँकों में पिसा हुआ कत्था भरें। फिर दोनों टुकड़े ओस में रख दे। सुबह दोनों टुकड़े चूस लें। इससे बवासीर से रक्त गिरना बन्द हो जायेगा।

35. केले के गूदे को नीबू के रस में पीसकर लगाने से खुजली में लाभ होता है।

36. नारियल के तेल में नीबू का रस मिलाकर मालिश करने से खुजली कम होती है।

37. गर्म दूध पर जमने वाली मलाई एक चम्मच पर नीबू निचोड़कर चेहरे पर मलने से मुँहासे मिट जाते हैं।

38. नीबू के रस को चार गुनी ग्लिसरीन में मिलाकर चेहरे पर रगड़ने से कील, मुँहासे मिट जाते हैं

39. नींबू के रस को पानी के साथ मिला कर पीने से मीजल्‍स ठीक हो जाता है।

40. नीबू का रस और शहद 1-1 चम्मच मिलाकर रात को ये दो चम्मच पीने से नींद आ जाती है।

41. इलाहाबादी मीठे अमरूद 250 ग्राम प्रात: और शाम को 5 बजे नित्य 6 सप्ताह खाये। नीबू, कालीमिर्च, नमक स्वाद के लिए अमरूद पर डाल सकते है। इससे मस्तिष्क का माँस-पेशियों को शक्ति मिलेगी, गर्मी निकल जायेगी, पागलपन दूर होगा।

42. गर्म पानी में नीबू, नमक, जीरा, हींग भुना हुआ और पोदीना मिलाकर पीयें। यह प्रयोग कम-से-कम एक माह करने से हिस्टीरिया दूर हो जाता है।

43. नीबू के छिलकों को सुखा कर पीस लें और मंजन के रूप में काम में लें। इससे दाँत साफ होंगे और साँस की बदबू दूर होगी।

44. पाँच लौंग पर नींबू का रस निचोड़ कर, पीस कर दांतों पर मलने से दर्द दूर हो जाता है।

45. ताजे पानी में नीबू निचोड़ कर कुल्ला करें, पीयें। इससे मसूड़े फूलना, मुँह की दुर्गन्ध दूर होती है।

46. ताजे पानी में नीबू निचोड़ कर कुल्ले करें, पीयें। मुंह की दुर्गन्ध दूर होगी।

47. एक छोटा चम्मच नीबू के रस में एक बड़ा चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो-तीन बार थोड़ी-थोड़ी मात्रा में खाने से गले का दर्द ठीक हो जाता है।

48. एक चम्मच पानी में एक बूंद नीबू का रस डालकर दो-दो बूँद आँखों में डालें। इससे आँखें स्वस्थ रहेंगी तथा सामान्य रोग दूर होंगे

49. करेले के रस में एक नीबू का रस मिलाकर रोजाना पीने से मोटापा कम होता है।

50. एक नीबू स्वाद के अनुसार सेंधा नमक, एक पाव गर्म पानी में मिलाकर सुबह भूखे पेट दो माह पीने से मोटापा कम होता है।

51. पालक के रस में नीबू मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है।

52. त्वचा पर जहाँ कहीं भी चकत्ते (Freckles) हों, उन पर नीबू का टुकड़ा रगड़ें। नीबू में फिटकरी भरकर रगड़ें। इससे चकत्ते हल्के पड़ जायेंगे और त्वचा में निखार आयेगा।

53. नीबू का रस दो चम्मच, दूध की मलाई थोड़ी-सी और बेसन या मैदा थोड़ी-सी-इन तीनों को मिला कर उबटन बना लें और मलें। इससे खुश्की दूर होती है और चेहरे में चमक आती है।

54. नीबू की फॉक पर नमक डालकर गर्म करके चूसने से खाना सरलता से पच जाता है।

55. सौंठ की पाँच गुनी अजवाइन पीसकर नीबू के रस में तर कर लें। इसे छाया में सुखाकर नमक मिला लें। सुबह-शाम पानी के साथ लेने से गैस ठीक होता है।

56. एक गिलास पानी में नीबू निचोड़ कर पीने से प्यास कम लगती है।

57. नीबू को बीच में से काटकर और उसको गर्म करके थोड़ा नमक मिलाकर कई दिन तक भोजन से पूर्व प्रतिदिन दो बार चूसने से बढ़ी हुई तिल्ली (प्लीहा) अपने प्राकृतिक आकार में आ जाती है।

58. एक गिलास पानी में एक नीबू निचोड़ें और स्वादानुसार पिसी हुई मिश्री डालकर पियें – तो लू का प्रभाव कम हो जाता है।

59. नीबू का रस लगाने तथा नीबू पानी में निचोड़कर धोने, नहाने एवं पीने से चर्म रोग में लाभ होता है।

60.सुबह दो नीबू पानी में निचोड़कर रोजाना पीने से चर्म रोग ठीक हो जाता है।

61. चेहरे पर नीबू रगड़ने से तैलीय त्वचा में लाभ होता है।

62. दाद को खुजला कर दिन में चार बार नीबू का रस लगाने से दाद ठीक हो जाता है।

63. केले के गूदे को नीबू के रस में पीस लें और दाद वाली जगह पर लगाए इससे लाभ होगा।

64. मूली के बीजों को नीबू के रस में पीसकर गर्म करके लगायें। पहले दिन लगाने पर जलन, दर्द होगा, दूसरे दिन कम होगा। धीरे-धीरे ठीक होगा। यह सूखे, गीले, दोनों प्रकार के दाद में लाभदायक है।

65.नीबू के रस में सूखे सिंघाड़े को घिस कर लगायें। पहले तो कुछ जलन होगी, फिर ठंडक पड़ जायेगी, कुछ दिन इसे लगाने से दाद ठीक हो जाता है।