कपूर के फायदे – Camphor (Kapoor) Benefits in Hindi

कपूर के फायदे – Camphor (Kapoor) Benefits in Hindi


1. तारपीन के तेल में कपूर मिलाकर हल्का गुनगुना करके उससे छाती पर मालिश करने से निमोनिया ठीक हो जाता है।

2. देशी घी में कपूर मिला कर नित्य चार बार लगायें और लार गिराते रहें, फिर कुल्ला करें। छाले अपने आप ठीक हो जाएंगे।

3. चमेली के तेल में कपूर मिलाकर मालिश करने से खुजली मिट जाती है।

4. दस ग्राम कपूर को 100 ग्राम नारियल के तेल में मिलाकर लगाने से खुजली में लाभ होता है।

5. पायोरिया हो तो देशी घी में कपूर मिलाकर नित्य चार बार लगायें और लार गिराते रहें। फिर कुल्ले कर लें। इससे लाभ होगा।

6. एरण्ड का तेल और कपूर मिला कर रोजाना दो बार सुबह-शाम मसूड़ों पर मलने से पायोरिया में लाभ होता है।

7. पान में चने की दाल के बराबर कपूर का टुकड़ा डाल कर पान चबायें। पीक थूकते जाएँ। ध्यान रहे कि पीक पेट में न जाए। इससे शीघ्र ही पायोरिया में लाभ मिलेगा।

8. फेफड़ों में अगर कफ जमा हो तो तुलसी के सूखे पत्ते, कत्था,कपूर और इलायची समान मात्रा, नौ गुनी शक्कर ये सब मिला कर बारीक पीस लें। यह होम्योपैथी का IX विचूर्ण (Trituration) बन जाता है। इसे चुटकी भर सुबह-शाम सेवन करने से जमा हुआ कफ बाहर निकल जाता है।