जमीन पर बैठकर खाने के फायदे – Jameen Par Baithkar Khane Ke Fayde

समय के अनुसार समय के अनुसार हर चीज में परिवर्तन आ ही जाता है जैसे कि पुराने समय में लोग जमीन पर बैठकर खाना खाते थे लेकिन आज के समय में लोग डाइनिंग टेबल को ढूंढते हैं और अगर डाइनिंग टेबल नहीं है तो उस घर के लोग बिस्तर पर ही भोजन खाना पसंद करते हैं

हम लोग पुराने रीति रिवाज को छोड़ कर अपने रीति-रिवाज की और बड़ी तेजी से बढ़ रहे हैं जैसे जैसे नई नई चीजें आ रही हैं परेशानियां भी आ रही हैं इन परेशानियों के बढ़ने की वजह यह है कि हम पुरानी चीजों से होने वाले फायदे को भूल रहे हैं तो आइए जानते हैं जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे-

जमीन पर बैठकर खाने के फायदे - Jameen Par Baithkar Khane Ke Fayde

जमीन पर बैठकर खाने से होता है योगाभ्यास – Jameen par baithakar khaane se hota hai yogaabhyaas


योग का हर एक आसन शरीर को किसी न किसी रूप में लाभ जरूर पहुंचाता है और जब हम लोग जमीन पर बैठ कर खाते हैं तो हम लोग सुखासन या सिद्धासन आसन में बैठे होते हैं और यह आसन भोजन के पाचन में भी सहायता करता है जिससे हमें पाचन से होने वाली बीमारियों का सामना नहीं करना पड़ता है इसलिए हमें जब भी भोजन करना चाहिए तो जमीन पर ही बैठकर करना चाहिए

जमीन पर बैठकर खाने से बढ़ता है शरीर का लचीलापन – Jameen par baithkar khane se badhta hai shareer ka lachilaapan


जब हम लोग जमीन पर पैरों को क्रॉस करके बैठते हैं तो इससे शरीर मजबूत व अधिक लचीला होता है सिटींग पोजीशन में आपके हिप्स, टखनों व घुटनों पर जोर पड़ता है और आपकी रीढ़ की हड्डी, कंधों और छाती का लचीलापन भी बढ़ जाता है ऐसा होने पर आप बहुत सी बीमारियों से खुद-ब-खुद बच जाते हैं, अगर आप भी अपने शरीर को लचीलापन बनाना चाहते हैं तो आप जमीन पर बैठकर ही भोजन करें

जमीन पर बैठकर भोजन करने से रक्त प्रवाह में सुधार – Jameen par baithakar bhojan karne se rakt pravaah me sudhaar


बेहतर स्वास्थ्य के लिए यह बहुत ही जरूरी होता है कि आपके शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर तरीके से हो अपने शरीर में ब्लड सरकुलेशन के लिए आपको जमीन पर बैठकर खाना खाने की आदत डालनी चाहिए दरअसल ऐसा करने से आपके हृदय से शरीर के अन्य भागों तक रक्त का प्रवाह बेहतर हो जाता है इसके अतिरिक्त जमीन पर बैठकर खाना खाने से आपका हृदय बेहतर तरीके से काम करता है और आप हृदय संबंधी परेशानियों से खुद को काफी हद तक बचा लेते हैं

फर्श पर बैठकर खाने से करे वजन को कंट्रोल – Pharsh par baithkar khane se kare vajan ko kantrol


भोजन करने के लिए फर्श पर बैठना और फिर उठने से एक तरह का अर्ध पद्मासन हो जाता है। ये आसन धीरे-धीरे भोजन खाने और अच्छी तरह भोजन पचाने में मदद करता है। इससे वसा के कारण बढ़ने वाला वजन कंट्रोल में रहता है। अगर आपभी वसा से परेशान है, तो आप फर्श पर बैठकर खाना खाना शुरू कर दे।

धरती पर बैठकर खाना खाने से बढ़ती है परिवार की निकटता – Dharti par baithakar khana khane se badhati hai parivaar ki nikatata


एक साथ बैठकर खाने से फैमिली बॉंडिंग स्ट्रॉंग होती है, ये बात तो आप जानते ही हैं। साथ ही पद्मासन में बैठकर खाने से आप मानसिक तनाव से दूर होते हैं, जिससे आप अपने परिवार के साथ एक अच्छा टाइम बिता सकते हैं।

जमीन पर बैठकर खाने से होता है घुटनों का व्यायाम – Jameen par baithkar khane se hota hai ghutanon ka vyaayaam


जमीन पर बैठकर भोजन करने से आपका पूरा शरीर स्वस्थ रहता है, पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है। इसके साथ ही साथ जमीन पर बैठने के लिए आपको अपने घुटने मोड़ने पड़ते हैं। इससे आपके घुटनों का भी बेहतर व्यायाम हो जाता है, उनकी लचक बरकरार रहती है जिसकी वजह से आप जोड़ों की समस्या से बचते हैं।

धरती पर बैठकर भोजन करने से दिल की मजबूती – Dharatee par baithkar bhojan karne se dil ki majbuti


सही पोस्चर में बैठने से आपके शरीर में रक्त का संचार बेहतर होता है और साथ ही साथ आपको नाड़ियों में दबाव भी कम महसूस होता है। पाचन क्रिया में रक्त संचार का एक अहम रोल है। पाचन क्रिया को सुचारू रूप से चलाने में हृदय की भूमिका अहम होती है। जब भोजन जल्दी पच जाएगा तो हृदय को भी कम मेहनत करनी पड़ेगी।

Leave a Reply