Swami Vivekananda In Hindi – स्वामी विवेकानंद के बारे में रोचक तथ्य

भारत के इतिहास में जब भी सन्यासी की बात की जाती है, तो उनमे स्वामी विवेकानंद जी का नाम जरूर आता है। हिंदुत्वता में जागरूकता फैलाने और पाश्चिमात्य देशो को योगा और वेदांत का ज्ञान देने के लिये वे प्रसिद्ध है। 12 जनवरी 1863 को स्वामी विवेकानंद का जन्म कोलकाता में हुआ था। डेढ़ सौ साल में वक्त बदल गया, विरासत और सियासत भी बदल गई। तो आइये स्वामी विवेकानंद के बारे में रोचक तथ्य जानते है-

स्वामी विवेकानंद के रोचक तथ्य | Interesting Facts About Swami Vivekananda In Hindi

Facts About Swami Vivekananda In Hindi – स्वामी विवेकानंद के रोचक तथ्य


1) स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता के एक रूढ़िवादी हिन्दु परिवार में हुआ था।

2) स्वामी विवेकानंद के पिता विश्वनाथ दत्ता कलकत्ता हाई कोर्ट में काम करते थे और उनकी माता गृहिणी थी।

3) विवेकानंद जी को पढने में काफी रूचि थी। उन्हें वेद, उपनिषद, भगवत गीता, रामायण, महाभारत और पुराण में काफी रूचि थी।

4) विवेकानंद ब्रह्म समाज के सदस्य बने और भगवान को पाने के रास्ते ढूंडने लगे।

5) बी.ए. की डिग्री होने के बावजूद भी नौकरी की खोज में भटकना पड़ा। वे लगभग नास्तिक बन चुके थे क्योंकि भगवान से उनका विश्वास डगमगा गया था।

6) आपको जानकर हैरानी होगी, कि खेत्री के महाराजा अजीत सिंह स्वामीजी की मां को आर्थिक सहायता के तौर पर नियमित रूप से 100 रूपये भेजते थे।

7) रामकृष्ण ने विवेकानंद को सिखाया था की इंसानों की सेवा करना भगवान की पूजा करने से भी बढ़कर है।

8) स्वामी जी में इतनी सादगी थी कि 1896 में तो उन्होंने लंदन में कचौरियां तक बना दी थीं।

9) 11 सितम्बर को “विश्व भाईचारा दिवस” मनाया जाता है। इसी दिन स्वामी विवेकानंद ने शिकागो धर्म संसद में अपना भाषण दिया था। विडम्बना यह है कि 11 सितम्बर को ही वर्ष 2001 में इतिहास का सबसे बड़ा आतंकवादी हमला हुआ।

10) स्वामी विवेकानंद ने भविष्यवाणी की थी कि वे 40 वर्ष की आयु प्राप्त नहीं कर सकेंगे। उनकी यह बात तब सच साबित हो गई

Amazing Facts About Swami Vivekananda In Hindi – स्वामी विवेकानंद के रोचक तथ्य


11) स्वामी जी 31 बीमारियों से ग्रसित थे।

12) साल 1888 में विवेकानन्द ने पैदल भारत का सफर शुरू किया और 5 सालो तक अलग-अलग प्रदेशो तथा लोगो से मिलते रहे।

13) स्वामी विवेकानंद जी ने पहला हिंदुत्व पर भाषण 11 सितंबर 1893 को विश्व धर्म सम्मेलन में दिया।

14) 4 जुलाई 1902 को 39 साल की आयु में बेलूर मठ में दिल का दौरा पड़ने से उनकी मृत्यु हो गयी।

15) स्वामी विवेकानंद जी के जन्म दिवस को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता हैं।