बिना खून वाली बवासीर के घरेलू उपाय – Home Remedies For Piles Without Blood In Hindi

बिना खून वाली बवासीर, खूनी बवासीर से भी ज्यादा खतरनाक होती है, क्योकि इस बवासीर में जलन, दर्द, खुजली, शरीर में बेचैनी, काम में मन न लगना और गैस जैसी बीमारी के भी लक्षण देखने को मिलते है। बवासीर जैसी बीमारी पीढ़ी दर पीढ़ी भी हो सकत है।  अगर आप भी इस बीमारी से परेशान है और निदान पाना चाहते है, तो इन घरेलू नुस्खो से उपाय करे लाभ जरुर मिलेगा-

बिना खून वाली बवासीर के घरेलू उपाय - Home Remedies For Hemorrhoids Without Blood In Hindi

बिना खून वाली बवासीर के घरेलू उपाय – Home Remedies For Piles Without Blood In Hindi


1. बैंगन का दाँड पीसकर बवासीर पर लेप करने से दर्द और जलन में आराम मिलता है।

2. तौरई की सब्जी नित्य खाने से बवासीर ठीक हो जाते हैं।

3. चौलाई की सब्जी नित्य खाने से बवासीर ठीक हो जाते हैं।

4. बथुआ की सब्जी खाने और इसका रस पीने से बवासीर ठीक हो जाता है।

5. बवासीर के मस्से चुकन्दर खाते रहने से झड़ जाते हैं।

6. कच्ची गाजर खाने या रस पीने से बवासीर में लाभ होता है, जब तक गाजर मिलती रहे, लगातार सेवन करें।

7. आधा कप आमरस, 25 ग्राम मीठा दही और एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर दिन में तीन बार पीने से बवासीर ठीक हो जाता हैं।

8. कुछ दिनों तक अमरूद खाने से बवासीर (अर्श) ठीक हो जाते हैं।

9. कच्चा प्याज खाने से बिना खून वाली बवासीर और खून के साथ वाली बवासीर दोनों ठीक हो जाती हो जाती है।

10. 125 ग्राम मूली के रस में 100 ग्राम देशी घी की जलेबी एक घण्टा भीगने दें। फिर जलेबी खाकर रस पी जायें। इस तरह एक सप्ताह सेवन करने से जीवन भर के लिए हर प्रकार के बवासीर ठीक हो जायेंगे।

11. बवासीर पर लौकी के पत्तों को पीसकर लेप करने से कुछ ही दिनों में बवासीर नष्ट हो जाते हैं।

12. गवार के पौधे के 11 हरे पत्ते, 11 काली मिर्च पीसकर 62 ग्राम पानी में मिलाकर प्रात: एक बार कई दिन पीने से बादी बवासीर ठीक हो जाते हैं।

13. गेहूँ के पौधे का रस पीना हर प्रकार के बवासीर में लाभदायक है।

14. नियमित रूप से तिल का तेल बवासीर (अर्श) पर लगाने से लाभ होता है।

15. दस जायफल देशी घी में इतना सेंकें कि सुर्ख हो जायें। फिर इनको पीस कर छान कर दो कप गेहूँ के आटे में मिलाकर घी डाल कर पुन: सेंके। सेंकने के बाद स्वादानुसार देशी बूरा (शक्कर) मिला लें। इसे एक चम्मच नित्य सुबह, भूखे पेट खायें। बवासीर में लाभ होगा।

16. समान मात्रा में सौंठ और गुड़ मिला आधा चम्मच सुबह-शाम नित्य खाने से बवासीर में लाभ होता है।

17. छाछ में नमक और पीसी हुई अजवाइन मिलाकर पीने से बवासीर में लाभ होता है।

18. जीरा और मिश्री पीसकर पानी से फंकी लेने से बवासीर का दर्द दूर हो जाता है।

19. 12 ग्राम सौंठ, गुड़ के साथ दो बार लेने से बवासीर में लाभ होता है।

20. बवासीर पर तुलसी के पत्तों को पीसकर लेप करने या रस लगाने से लाभ होगा। तुलसी के पत्तों का सेवन भी करें।