कान बहना रोकने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Ear Discharge in Hindi

कान से जब कोई तरल पदार्थ जैसे कान से ब्लड, पस या अन्य प्रकार का द्रव निकलता है, तो उसे कान का बहना कहते है। इन्ही द्रव से पता चलता है कि आखिर कान में प्रॉब्लम क्या है। अगर आपके कान से खून या पस निकल रहा हो तो आप तुरंत डॉक्टर की सलाह ले।  लेकिन यदि कान नार्मल बह रहा है तो आप इन घरेलू नुस्खे से अपना उपचार कर सकते है-

कान बहना रोकने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Ear Discharge in Hindi

कान बहना रोकने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Ear Discharge in Hindi


1.  “सारिवादी बटी” को खाना खाने के बाद दूध के साथ सेवन करने से कान का बहना, कान दर्द और मवाद में भी राहत मिलता है।

2. एक चम्मच नीम का तेल और एक चम्मच शहद को मिलाकर रुई की सहायता से कानो में लगाने से कानो का बहना रुक जाता है।

3. कानो से मवाद आने पर कानो में प्याज का रस (3-4 बूंद) डाले, कान का बहना बंद हो जाएगा।

4. दूब (घास) की रस को कान में डालने से कान बहना बंद हो जाता है।

5. लहसुन की कली को नारियल तेल में डालकर गर्म करके और ठंडा हो जाने पर कानो में डालने से, कान बहना बंद हो जाता है।

6. सेब के सिरके में एक चम्मच गर्म पानी मिलाकर रुई के फाहे की सहायता से कान में डालने से कान ठीक हो जाता है।

7. तुलसी के पत्ते के रस को 3-4 बूंद कानो में डालने से कान की समस्या दूर हो जाती है।

8. मान्कंद के फल को भूनकर, उसमे से रस को निकालकर सुबह-शाम कानो में डालने से कानो को राहत मिलती है।

9. कानो में सरसो का तेल डालने से कानो को राहत मिलती है।

10. तिल के तेल में हुलहुल के तेल को मिलाकर इसको आग पर पका ले। पकने के बाद जब सिर्फ तेल ही रह जाये तो इसे आग से उतारकर छान ले। तैयार मिश्रण को कानो में डालने से कान से आने वाला मवाद ठीक हो जाता है।