दमा के घरेलू उपाय – Home Remedies For Asthma In Hindi

दमा यानि अस्थमा एक श्वसन सम्बंधित बीमारी है, इस बीमारी का कारण सांस, ठंड, खाँसी, घरघराहट, सिरदर्द, छाती की रुकावट और दर्द को माना जाता है। दमा ( अस्थमा ) की बीमारी को घरेलू उपायों का उपयोग करके आसानी से कण्ट्रोल किया जा सकता है-

दमा के घरेलू उपाय - Home Remedies For Asthma In Hindi

दमा के घरेलू उपाय – Home Remedies For Asthma In Hindi


1. दमा का दौरा पड़ने पर गरम पानी में नीबू निचोड़कर पिलाने से लाभ होता है।

2. दमा के रोगी को नित्य एक नीबू , दो चम्मच शहद और एक चम्मच अदरक का रस, एक कप गरम पानी के साथ पीते रहने से बहुत लाभ होता है।

3. नीबू के रस में शहद मिलाकर चाटने से बच्चों का साँस फूलना बन्द हो जाता है।

4. दमा में खजूर खाने से लाभ मिलता है।

5. दमा में गाजर अथवा इसका रस बहुत ही लाभदायक होता है।

6. गाजर का रस 185 ग्राम, चुकन्दर 1150 ग्राम, खीरा या ककड़ी का रस 125 ग्राम मिलाकर पीने से दमा में अधिक लाभ होता है।

7. अंगूर खाने से दमा में राहत मिलती है। और यदि थूकने में रक्त आता हो तब भी अंगूर खाने
से लाभ होता है।

8. चार चम्मच मेथी एक गिलास पानी में उबालें। आधा पानी रहने पर छानकर गर्म-गर्म ही पीयें। इसको पिलाने से दमा रोगी को राहत मिलती है।

9. करेले की सब्जी खाने से दमे में लाभ मिलता है।

10. चौथाई कप पुदीना का रस इतने ही पानी में मिलाकर नित्य तीन बार पीने से दमा में लाभ होता है।

11. दूध में पाँच पीपल डालकर गर्म करें और शक्कर डालकर नित्य सुबह-शाम पीने से दमा ठीक हो जाता है।

12. धनिया व मिश्री पीस कर चावलों के पानी के साथ पिलाने से दमा में लाभ होता है।

13. लहसुन के रस को गरम पानी के साथ देने से श्वास, दमा में लाभ होता है।

14. लहसुन की कली भूनकर जरा-सा नमक मिलाकर दो बार खाने से श्वास में लाभ होता है।

15. एक कप गरम पानी में दस बूंद लहसुन का रस, दो चम्मच शहद नित्य प्रात: दमा के रोगी को पीने से लाभ मिलता है।

16. प्याज को कूटकर सूंघने से खाँसी, गले के रोग, टान्सिल, फेफड़े के कष्ट दूर होते हैं।

17. शलगम, बन्दगोभी, गाजर और सेम (बालोल) का रस मिला कर सुबह-शाम दो सप्ताह तक पीने से दमा में लाभ होता है।

18. दमा में छोटी इलायची खाने से लाभ मिलता है।

19. आधा ग्राम पिसी हुई फिटकरी, शहद में मिलाकर चाटने से दमा, खाँसी में आराम आता है।

20. दमा में 6 ग्राम जौ की राख, 6 ग्राम मिश्री-इन दोनों को पीसकर सुबह-शाम गरम पानी से फँकी लें। आराम मिलेगा।

21. दमा के दौरे के समय ऐसा प्रयास करना चाहिए जिससे कफ पतला होकर निकले। कफ निकलने पर ही रोगी को आराम मिलेगा। तुलसी के रस में बलगम को पतला कर निकालने का गुण है। तुलसी का रस, शहद, अदरक का रस, प्याज का रस मिलाकर लेने से दमा में बहुत लाभ होता है।