न्यूटन के बारे में रोचक तथ्य- Newton Facts In Hindi

Newton Facts In Hindi: अगर हम इतिहास उठा कर देखते है तो हमें ये मिलता है कि दुनिया के महान वैज्ञानिको में से एक वैज्ञानिक आइज़क न्यूटन भी थे, आइज़क न्यूटन जब मात्र 23 साल के ही थे तब से ही इन्होने खोज करनी शुरू कर दी थी, क्योकि आइज़क न्यूटन ने 23 साल की उम्र में  गुरुत्वाकर्षण बल की खोज की थी, तो आइये दोस्तों अब हम न्यूटन से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में जानते है-

 न्यूटन के बारे में रोचक तथ्य- Newton Facts In Hindi

 1-10 न्यूटन के बारे में रोचक तथ्य-Newton In Hindi


1. आइज़क न्यूटन के पिता का नाम भी आइज़क न्यूटन था।

2. न्यूटन का पूरा नाम Isaac Newton था।

3. सेब न्यूटन के आगे गिरा था, न कि उनके सिर पर।

4. न्यूटन के पिता जी जब मरे थे, जब न्यूटन केवल 3 महीने के ही थे।

5. न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण बल की खोज 23 साल की उम्र में की थी।

6. न्यूटन ने सबसे ज्यादा पेपर धर्मों पर लिखा है।

7. न्यूटन ने अपने जवानी के दिनों में अपनी मां और सौतेले पिता(Step father) को जिंदा जला देने की धमकी दी थी।

8. न्यूटन ने Law of gravitation, Three law of motion और calculus को जब बनाया था, जब कैंब्रिज में प्लेग नामक बीमारी फैली हुई थी ।

9. न्यूटन जन्म के समय सामान्य आकर से बहुत ज्यादा छोटे थे, इनकी हालत जिन्दा रहने की नहीं थी।

10. न्यूटन का जन्म उसी साल हुआ था जिस साल गैलीलीयो का निधन हुआ था, इनका जन्म 25 December, 1642 को इंग्लैंड में इनकी मृत्यु 31 March, 1727 को इंग्लैंड में हुई थी।

11-20 न्यूटन के बारे में रोचक तथ्य-Newton In Hindi


11. न्यूटन अपने उल्टे हाथ से लिखते थे।

12. ग्रह सूर्य के चारों ओर अंडाकार में घूमते हैं, इस बात को साबित करने के लिए इंटरनेट Differential and integral कैलकुलस की खोज कर डाली।

13. न्यूटन का दिमाग कितना तेज था इसी बात से आप पता लगा सकते हैं, कि कैलकुलस का आविष्कार करने में उनको उतना ही समय लगा था जितना समय एक छात्र को इसे सीखने में लगता है।

14. पृथ्वी सूर्य के चारों ओर गोल नहीं बल्कि अंडाकार में घूमती है, यह बात न्यूटन ने ही बताई थी।

15. अल्बर्ट आइंस्टाइन अपनी स्टडी रूम की दीवारों पर न्यूटन की तस्वीर लगाकर रखते थे।

16. न्यूटन के मैथमेटिक्स सिद्धांत में एक छोटी सी कैलकुलेशन गलत थी, लेकिन 300 साल तक इस पर किसी ने ध्यान नहीं दिया।

17. जिस पेड़ से सेब गिरा था उस पेड़ की लकड़ी का एक टुकड़ा अंतरिक्ष में भी भेजा जा चुका है, ताकि गुरुत्वाकर्षण बल को की अवहेलना की जा सके, और इस पेड़ को जीरो ग्रेविटी का एहसास दिलाया जा सके।

Related Post

Leave a Reply