राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के बारे में रोचक तथ्य – Facts About Indian Flag In Hindi

Flag In Hindi:राष्ट्रीय ध्वज हर देश का अपना अलग-अलग होता है, किसी भी देश का एक जैसा नहीं होता, इसलिए हमें अपने राष्ट्रीय ध्वज की तरह दूसरे देश के राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान करना चहिये, आइये आज हम अपने राष्ट्रीय ध्वज ” तिरंगा ” के बारे में कुछ अनसुने रोचक तथ्य जानते है, जो हर एक नागरिक के लिए जानना जरुरी होता है-  Facts About Indian Flag In Hindi

राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के बारे में रोचक तथ्य - Facts About Indian Flag In Hindi

राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के बारे में रोचक तथ्य [1-10] – Indian Flag In Hindi


1. चाहे कुछ भी हो जाए तिरंगा ( झंडा ) जमीन से छूना नहीं चाहिए।

2. तिरंगे (झंडे ) पर कुछ भी लिखना या फिर बनाना गैरकानूनी है।

3. भारत के राष्ट्रीय ध्वज में इस्तेमाल होने वाले तीन रंग हैं, केसरिया, सफ़ेद और हरा की वजह से तिरंगा नाम से सम्बोधित किया गया।

4. भारत के राष्ट्रीय ध्वज (तिरंगा ) में जब चरखे की जगह अशोक चक्र लिया गया तो महात्मा गांधी नाराज हो गए थे। उन्होनें ये भी कहा था कि मैं अशोक चक्र वाले झंडे को सलाम नही करूँगा।

5. भारत के संसद भवन में एक साथ 3 तिरंगे फहराए जाते हैं।

6. तिरंगा फहराते समय जब बोलने वाले का मुँह श्रोताओं की तरफ हो तब तिरंगा उसके दाहिने तरफ होना चाहिए।

7. उस इंसान को जेल भी हो जाती है, जो फ्लैग कोड ऑफ इंडिया के तहत गलत तरीके से तिरंगा फहराने का दोषी पाया जाता है

8. तिरंगा हमेशा कॉटन, सिल्क या खादी का ही होना चाहिए।

9.प्लास्टिक का झंडा बनाने की मनाही हैं।

10. तिरंगे का निर्माण हमेशा रेक्टेंगल शेप में ही होगा। जिसका अनुपात 3 : 2 ही होना चाहिए।

तिरंगा के बारे में रोचक तथ्य [11-20] – Indian Flag In Hindi


11.अशोक चक्र का कोई माप तय नही हैं सिर्फ इसमें 24 तिल्लियां होनी आवश्यक हैं।

12. झंडे का यूज़ किसी भी प्रकार के सजावट के सामान में नहीं हो सकता।

13. जो तिरंगा फहराया जाता है, उसे 22 जुलाई 1947 को अपनाया गया था।

14.सबसे पहले लाल, पीले और हरे रंग की पट्टियों पर बने झंडे को 7 अगस्त 1906 को पारसी बागान चौक (ग्रीन पार्क), कोलकाता में फहराया गया था।

15. तिरंगे को आंध्रप्रदेश के पिंगली वैंकैया ने बनाया था।

16. भारत देश के राष्ट्रपति भवन के संग्रहालय में एक ऐसा तिरंगा हैं, जिसे सोने के स्तंभ पर हीरे-जवाहरातों से जड़ कर बनाया गया हैं।

17. कर्नाटक का नारगुंड किला, महाराष्ट्र का पनहाला किला और मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में स्थित किले में ही केवल 21 × 14 फीट के झंडे फहराए जाते हैं।

18. 22 दिसंबर 2002 के बाद लोगो को अपने घरों या आफिस में आम दिनों में भी तिरंगा फहराने की अनुमति मिली।

19. भारत के संविधान के अनुसार जब किसी राष्ट्र विभूति का निधन होता हैं व राष्ट्रीय शोक घोषित होता हैं, तब कुछ समय के लिए राष्ट्र ध्वज को झुका दिया जाता हैं।,  आपको बता दे यह उसी भवन का तिरंगा झुका रहेगा, जिस भवन में उस विभूति का पार्थिव शरीर रखा हैं।

20. शहीदों के शवों पर लिपटे तिरंगे केसरिया पट्टी सिर की तरफ और हरी पट्टी पैरों की तरफ होती है, शवों के साथ तिरंगे को जलाया या दफनाया नही जाता बल्कि उसे हटा लिया जाता हैं।

21. शेरपा तेनजिंग और एडमंड माउंट हिलेरी ने जब एवरेस्ट फतह पाई थी, तब 29 मई 1953 में भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा सबसे ऊंची पर्वत की चोटी माउंट एवरेस्ट पर यूनियन जैक तथा नेपाली राष्ट्रीय ध्वज के साथ फहराता नजर आया था।

Leave a Reply