हजरत मुहम्मद साहब पैगम्बर के बारे में रोचक तथ्य | Hazrat Sahab In Hindi

Hazrat Sahab In Hindi: हजरत मुहम्मद साहब पैगम्बर ने अपने नेक संदेशो से इस्लाम धर्म में बहुत ही ज्यादा एकता फैलाई थी, आएये दोस्तों इस्लाम धर्म के पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब  के बारे में कुछ ऐसे रोचक तथ्य जाने जो शायद आपने कभी सुना नहीं होगा |

इस्लाम धर्म: हजरत मुहम्मद साहब के बारे में रोचक तथ्य Hazrat sahab Islam in hindi

हजरत मुहम्मद साहब पैगम्बर के बारे में रोचक तथ्य | Hazrat Sahab In Hindi

1. हजरत मुहम्मद साहब का जन्म लगभग 570 ई. में मक्का-मदीना (सउदी अरब) में हुआ था | इनके पिता का नाम अब्दुला और माता का नाम अमीना था |

2. 24 दिसंबर 622 ई. को इस्लाम जगत में मुस्लिम संवत् को हिजरी संवत् से जाना जाने लगा |

इस्लाम धर्म के संस्थापक | Founder of Islam religion


3. इस्लाम धर्म की नीव हजरत मुहम्मद साहब ने रखी थी |

4. हजरत मुहम्मद साहब का विवाह 25 साल की उम्र में खदीजा नामक विधवा से हो गया था | और इनके बेटी का नाम फातिमा और दामाद का नाम अली हुसेन था |

5. हजरत मुहम्मद साहब के अनुसार सुन्नी उसे कहा जाता है, जो सुने पर विश्वास करते है |

6. देवदूत ग्रेवियल ने पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब को कुरान अरबी भाषा में किया था |

7. हजरत मुहम्मद साहब ने कोई और नहीं बल्कि कुरान का ही केवल उपदेश दिया था |

8. हजरत मुहम्मद साहब पैगम्बर के जन्म दिन पर ईद-ए-मिलाद उन नवी का पर्व मनाया जाता है |

9. इब्न ईशाक ने सबसे पहले हजरत मुहम्मद साहब का जीवन चरित्र (Biography) लिखी थी |

10. हजरत मुहम्मद साहब को 610 ई. में मक्का के पास हीरा नामक गुफा में ज्ञान की प्राप्ति हुई थी |

11. मुहम्मद साहब की मृत्यु के बाद इस्लाम सुन्नी और शिया नामक दो भागों मे बट गया |

12. हजरत मुहम्मद साहब के उतराधिकारी “खलीफा” कहलाते है |

13. मुहम्मद साहब को मदीना में ही दफनाया गया था |

इस्लाम धर्म से जुड़े कुछ रोचक तथ्य | Some interesting facts related to Islam

  • कलमा पढ़ना : ” ला इलाह इल्लललाह मुहम्मदुर्ररसूलल्लाह” । इस मंत्र के जरिए यह मानना और बोलना कि अल्लाह एक है और हजरत मुहम्मद साहब पैगम्बर उनके रसूल हैं। एक ही ईश्वर को मानने का सिद्धांत यानी तौहिद की बुनियाद यही मूल सूत्र है।
  • नमाज – हर दिन 5 बार अल्लाह से प्रार्थना करना। इसे सलात से भी जाना जाता है |
  • रोजा रखना– इस्लाम धर्म का पवित्र महीने रमजान में महीने भर केवल सूर्यास्त के बाद 1 बार खाना खाने का नियम पूरा करना।
  • जकात– सालाना आमदनी का एक नियत हिस्सा (तकरीबन ढाई प्रतिशत तक) दान करना।
  • हज– इस्लाम धर्म के पवित्र तीर्थ स्थानों मक्का और मदीना की यात्रा।
1 Comments
  1. An outstanding share! I’ve just forwarded this onto a colleague who has
    been doing a little research on this. And he in fact ordered me dinner due to the fact that I stumbled upon it for him…
    lol. So let me reword this…. Thanks for the meal!! But yeah, thanks for spending time
    to discuss this topic here on your blog.

Leave a Reply

 
Top