Ayodhya In Hindi – अयोध्या के बारे में रोचक तथ्य

Facts About Ayodhya: अयोध्या उत्तर प्रदेश राज्य का एक प्रसिद्ध नगर है,  रामायण के अनुसार अयोध्या की स्थापना मनु ने की थी। यह नगरी बहुत ही खूबसूरत है, तो आइये हम लोग भी इस खूबसूरत नगरी का लुफ़्त उठाते हुए इस नगरी से जुडी हुई रोचक जानकारी जानते है-

अयोध्या के बारे में रोचक तथ्य - Facts About Ayodhya In Hindi

Amazing Facts About Ayodhya In Hindi – अयोध्या के बारे में रोचक तथ्य


1. रामायण के अनुसार अयोध्या की स्थापना मनु ने की थी।

2. रामायण में अयोध्या का उल्लेख कोशल जनपद की राजधानी के रूप में किया गया है।

3. वेद का यह श्लोक ( अष्टचक्रा नवद्वारा देवानां पूरयोध्या ) इस बात को बताता है, कि अयोध्या ईश्वर का नगर है।

4. अयोध्या नगरी सरयू के तट पर बसी हुई है, इसकी लम्बाई बारह योजन (144 कि.मी.) और चौड़ाई तीन योजन ( 36 कि.मी.) है।

5. भगवान राम के साथ-साथ अयोध्या में और अन्य सात प्राकट्य हुये हैं जैसे : गुप्तहरि , विष्णुहरि , चक्रहरि , पुण्यहरि , चन्द्रहरि , धर्महरि और बिल्वहरि | 

6. अयोध्या में स्थित रामकोट पूजा का प्रमुख स्थान है।

7. अयोध्या में स्थित हनुमानगढ़ी की ऐसी मान्यता है, कि हनुमान यहाँ एक गुफा में रहकर रामजन्मभूमि और रामकोट की रक्षा करते थे।

8. हनुमान के इस मंदिर में बाल हनुमान के साथ अंजनि की प्रतिमा भी है।

9. अयोध्या में स्थित राघवजी मंदिर में केवल भगवान राम की ही मूर्ति है, यहाँ तक की माता सीता की भी मूर्ति नहीं है।

10. ऐसा माना है, कि नागेश्वर नाथ मंदिर को भगवान राम के पुत्र कुश ने बनवाया था।

Interesting Facts About Ayodhya In Hindi – अयोध्या के बारे में रोचक तथ्य


11. हनुमान गढ़ी के निकट स्थित कनक भवन अयोध्या का एक महत्वपूर्ण मंदिर है। यह मंदिर सीता और राम के सोने मुकुट पहने प्रतिमाओं के लिए लोकप्रिय है, इस मंदिर को सोने का घर भी कहा जाता है।

12. राम के समय में, यह नगर अवध नाम की राजधानी से सुशोभित था। वैसे भी अगर देखा जाए तो यह अयोध्या नगरी रघुवंशी राजाओं की बहुत पुरानी राजधानी थी।

13. अयोध्या के एक मंदिर में एक राम  नाम पत्थर रखा हुआ है, जो पानी में तैरता है।

14. हिन्दुओं के मंदिरों के अलावा अयोध्या जैन मंदिरों के लिए भी खासा लोकप्रिय है।

15. अयोध्या में एक राम नाम बैंक है, इस बैंक में लोग राम- राम लिखकर जमा करवाते है।

16. यहाँ पर वर्ष में तीन मेले लगते हैं – मार्च-अप्रैल, जुलाई-अगस्त तथा अक्टूबर-नंवबर के महीनों में।

17. बौद्ध ग्रन्थों के अनुसार, अयोध्या पूर्ववर्ती तथा साकेत परवर्ती राजधानी थी।