दिवाली से जुडी कहनियाँ – Diwali Stories In Hindi

Diwali Stories In Hindi: दिवाली त्यौहार से जुडी हुई कोई एक कहानी नहीं है, इस त्यौहार से बहुत सारी कहानियाँ है, आज हम आपको दिवाली से जुडी हुई कुछ ऐसी कहानी बताएँगे, जिससे यह साबित होता है, कि दिवाली इन्ही वजह से मनाई जाती है-

happy deepawali story in hindi

दीपावली की कहानी – Deepawali Story In Hindi


1. राम के वनवास से अयोध्या लौटने की ख़ुशी में – Diwali Story In Hindi
2. पांडवों का अपने राज्य में लौटना – Diwali Story In Hindi
3. राजा विक्रमादित्य का राज्याभिषेक – Diwali Story In Hindi
4. माता लक्ष्मी का अवतार – Diwali Story In Hindi
5. 6वें सिख गुरु की आजादी – Diwali Story In Hindi
6. श्री कृष्ण द्वारा नरकासुर का संहार – Diwali Story In Hindi

राम के वनवास से अयोध्या लौटने की ख़ुशी में – Diwali Story In Hindi


इस कहानी को लगभग सभी लोग जानते है कि हम दिवाली श्री राम जी के वनवास से लौटने की ख़ुशी में मनाते हैं।  भगवान श्री राम जी को चौदह वर्ष का वनवास होता है, भगवान श्री राम के साथ माता सीता और भाई लक्ष्मण भी जाते है।

वनवास के समय में ही माता सीता का अपहरण रावण कर लेता है, भगवान श्री राम जी रावण का वध करके सीता माता को छुड़ा लाते हैं। उस दिन को दशहरे के रूप में मनाया जाता है और जब श्री राम अपने घर अयोध्या लौटते हैं तो पूरे राज्य के लोग उनके आने के ख़ुशी में रात्री के समय दीप जलाते हैं और खुशियाँ मनाते हैं। तब से उस दिन का नाम दीपावली के नाम से जाना जाता है।

पांडवों का अपने राज्य में लौटना – Diwali Story In Hindi


महाभारत की कहानी में कौरवों ने, शकुनी मामा के चाल की मदद से शतरंज के खेल में पांडवों का सब कुछ छीन लिया था और यहाँ तक की उन्हें राज्य छोड़ कर 13 वर्ष के लिए वनवास भी जाना पड़ा। आपकी जानकारी के लिए बता दे, इसी कार्तिक अमावस्या को वो 5 पांडव (युधिष्ठिर, भीम, अर्जुन, नकुल और सहदेव) अपने 13 वर्ष के वनवास से अपने राज्य लौटे थे। उनके लौटने के ख़ुशी में उनके राज्य के लोगों नें दीप जला कर खुशियाँ मनाया। देखा जाए तो यह भी दीपावली मनाने का एक बहुत ही मुख्य कारण है।

राजा विक्रमादित्य का राज्याभिषेक – Diwali Story In Hindi


राजा विक्रमादित्य प्राचीन भारत के एक महान सम्राट थे। वे एक बहुत ही आदर्श राजा थे और उन्हें उनके उदारता, साहस तथा विद्वानों के संरक्षणों के कारण हमेशा जाना है। इसी कार्तिक अमावस्या को उनका राज्याभिषेक हुआ था।

माता लक्ष्मी का अवतार – Diwali Story In Hindi


हर बार दीपावली का त्यौहार हिन्दी कैलंडर के अनुसार कार्तिक महीने के “अमावस्या” के दिन मनाया जाता है क्योंकि इसी दिन समुन्द्र मंथन के दौरान माता लक्ष्मी जी ने सृष्टि में अवतार लिया था। माता लक्ष्मी को धन और समृद्धि की देवी माना जाता है। इसीलिए हर घर में दीप जलने के साथ-साथ हम माता लक्ष्मी जी की पूजा भी करतें हैं।

6वें सिख गुरु की आजादी – Diwali Story In Hindi


इस त्यौहार को सिख लोग भी मनाते हैं, सिख लोग अपने 6वें गुरु श्री हरगोविंद जी के ग्वालियर जेल से मुक्त होने के रूप में मानते है, श्री हरगोविन्द जी मुग़ल सम्राट जहाँगीर की कैद में थे। सिख धर्म के अनुसार भी यह एक दिवाली मानाने का प्रमुख कारण है।

श्री कृष्ण द्वारा नरकासुर का संहार – Diwali Story In Hindi


इसी दिन कृष्ण भगवान ने नरकासुर राक्षस का वध करके सभी देवी कन्याओं को उसके चंगुल से छुड़ाया। जिसकी ख़ुशी में लोगो ने दिवाली माननी शुरू कर दी थी देखा जाए तो यह भी दीपावली मनाने का एक मुख्य कारण है।

Leave a Reply