साइकिल का आविष्कार – Cycle Invention

Invention Of Cycle In Hindi:साइकिल का इतिहास भी बहुत बड़ा है। अगर आप सोच रहे है कि साइकिल की खोज करने में कौन सा बड़ा इतिहास बन गया तो आपको बता दे साईकिल का अविष्कार बहुत लोकप्रिय आविष्कार में से एक है, साइकिल का आविष्कार आसानी से ओर सरल तरीके से नहीं हुआ। पहले वाली साइकिल को बनाने का दावा बहुत सारे लोग करते है-

साइकिल का अविष्कार किसने और कब किया था ?- Invention Of Cycle In Hindi

साइकिल का अविष्कार किसने और कब किया था ?- Invention Of Cycle In Hindi


साइकिल किर्कपैट्रिक मैकमिलन 1839-40

साइकिल का इतिहास – History Of Cycle In Hindi


सबसे पहले दो पहिये वाली मशीन का आविष्कार 1816 मे जर्मनी मे हुआ,  और इस मशीन को चलाने के लिए चालक को साइकिल की शीट पर बैठकर जमीन पर दौड़ना पड़ता था इसके बाद  कुछ साइकिल जैसी दिखने वाली  मशीन का आविष्कार फ्रांस के जिन थेसन ने किया था। लेकिन इस मशीन में चार पहिये थे

1839 में स्कॉटलैंड के एक लुहार किर्कपैट्रिक मैकमिलन द्वारा आधुनिक सायकिल का आविष्कार हुआ  इस पर बैठकर जमीन को पांव से पीछे की ओर धकेलकर आगे की तरफ़ बढ़ा जाता था। मैकमिलन ने इसमें पहिये को पैरों से चला सकने योग्य व्यवस्था की।

सायकिल के विभिन्न भाग – Part Of CycleIn Hindi


साइकिल के विभिन्न भाग जो बहुत जरुरी है वह निम्नलिखित हैं :

1. फ्रेम
2. बाल्व
3. पहिया
4. बॉलबेयरिंग
5. मुक्त चक्र
6. हवाई टायर
7. पैडल क्रैंक
8. चालक जंजीर
9. हाथ के ब्रेक
10. बहुचाल युक्त गीअर नाभि

 
Top