चाणक्य नीति | Chanakya Niti In Hindi

Chanakya Niti In Hindi : आचार्य चाणक्य भारत देश के महान विद्वानों में से एक विद्वान माने जाते है, आचार्य चाणक्य अपने नीति शास्त्र के लिए बहुत प्रसिद्ध थे, आचार्य चाणक्य की नीतियां इतनी ज्यादा प्रसिद्ध थी, कि देश विदेश में लोग इनकी नीतियों को लोहा मानते थे, आचार्य चाणक्य कोई साधारण कूटनीति नहीं जानते थे, बल्कि इन्होने अपने कूटनीति से चन्द्रगुप्त को मगध का राजा बना दिया था, इसीलिए आज भी लोग आचार्य चाणक्य की कही हुई बातो को मानते है,

चाणक्य नीति | Chanakya Niti In Hindi

आचार्य चाणक्य ने “चाणक्य नीति” नामक किताब लिखी , जिसके अंदर बहुत सारी नीति बताई गई है, जो हमारे जीवन को एक नया रास्ता देती है| हमें अपने जीवन को कैसे बिताना चाहिए, हमें किस तरह के लोगो को अपने आस-पास रखना चाहिए, ये सारी बाते, आचार्य चाणक्य ने अपनी “चाणक्य नीति” किताब में लिखी है -आचार्य चाणक्य ने जो बाते “चाणक्य नीति” में लिखी है, उनमे से कुछ खास बाते हम आपको बताने जा रहे है , जिससे आप अपने जीवन में एक नया परिवर्तन जरुर देखंगे –

चाणक्य नीति | Chanakya Niti In Hindi


पत्नी के साथ एकांत में समय बिताएं

चाणक्य जी कहते है ,कि कुछ समय अपने पत्नी के साथ जरुर बिताना चाहिए, यदि आप अपनी पत्नी के साथ कुछ समय बिताते है, तो आप दोनों के रिश्ते में कोई समस्या नहीं आएगी, यह बिल्कुल उसी तरह काम करती है , जैसे किसी ने आग कि ज्वाला में, घी डाल दिया हो, और इससे औरते हमेशा आपके वश में रहेंगी |

 

औरतो का चरित्र

औरतो को समझ पाना बहुत ही मुश्किल है, क्योकि वह जिस तरह से दिखती है , शायद वह वैसी होती नहीं, तो अगर हम स्त्री को समझ नहीं सकते है, तो हमें स्त्री के मामले में बहुत ध्यान रखना चाहिए, हमें अपने जीवन के लिए बहुत सोच समझ का स्त्री का चुनाव करना चाहिए,अगर औरत दुष्ट स्वभाव वाली, हमेशा कठोर वचन बोलने वाली, चरित्रहीन है तो उसे छोड़ देना चाहिए या उससे दूर हो जाना चाहिए  और एक खाश बात , कभी भी किसी स्त्री को अपना राज नहीं बताना चाहिए| और गर स्त्री चरित्रवान है, तो एक पुरुष को धन से भी ज्यादा अपनी पत्नी की रक्षा करनी चाहिए |

 

कमजोरी छुपा कर रखे

चाणक्य जी , चाणक्य नीति में कहते है, कि बहुत से लोग अपने चाहने वालो को (जैसे : किसी करीबी रिश्तेदार को , करीबी दोस्तों को या अपनी पत्नी को …) अपनी कमजोरी के बारे में बता देते है, जिसका वह लोग बड़ी ही आसानी से फायदा उठा लेते है, और जब वह लोग फायदा उठा लेते है , तो वही इनके लिए बहुत महंगा पड़ जाता है, चाणक्य जी बताते है, कि जब आपका जन्म हुआ था, तब आप अकेले थे, जब आप मरोगे, तो भी आप अकेले रहोगे, इसलिए अपनी कमजोरी केवल अपने तक ही सीमित रखो |

चाणक्य जी ये भी बताते है, कि अपनी कमजोरी को अपने आप तक सीमित करके उस पर अम्ल करो कि आखिर उस कमजोरी को एक ताकतवर हथियार की तरह कैसे इस्तेमाल किया, जिससे आपकी कमजोरी, कमजोरी न रहकर एक प्रबल हथियार बन जाए| अगर आप अपनी कमजोरी पर अम्ल नहीं करोगे, तो हर बार कोई न कोई आपकी कमजोरी का जरुर फायदा उठा ही लेगा|

 

मुर्ख से विवाद न करे

जीवन में कभी भी एक मुर्ख के साथ विवाद नहीं करना चाहिए, क्योकि मुर्ख के पास बिल्कुल भी समझने कि शक्ति नहीं होती है, और अगर ऐसे इन्सान के साथ विवाद करते हो, तो नुकसान आपका ही होगा| जैसे अगर आप किसी मुर्ख के साथ विवाद करने में लगे हो, जब आपको एक बुद्धिमान इन्सान देखेगा, तो वह ये जरुर सोचेगा कि आप भी मुर्ख इन्सान हो, जिससे समाज के बीच आपकी छवि ख़राब हो जाएगी| इसलिए अपने जीवन में ध्यान रखोकभी भी किसी मुर्ख के साथ किसी भी प्रकार का कोई विवाद न करो|

 

धन को सोच समझकर खर्च करे

धन को हमेशा सोच-समझकर यानि जरुरत के हिसाब से खर्च करना चाहिए, यदि अगर आप अपने जरुरत से ज्यादा खर्च करते है , तो आप बहुत ही जल्दी कर्ज में डूब जायेंगे | हमेश इन्सान को कामये हुए धन को बचाने की कोशिश करनी चाहिए, क्योकि बचाया हुआ धन कमायें हुए धन के बराबर होता है

 

आलस्य को त्याग दे

अगर दुनिया के लोगो को देखा जाए , तो दुनिया में केवल ऐसे 20% लोग ही है , जो कामयाबी की बुलंदी पर बैठे है|जो बहुत ही ज्यादा गरीब होते हुए भी आज बहुत ज्यादा अमीर है , इसका बस एक ही कारण है , वह है , इन्होने कभी आलस्य नहीं किया , इन्होने अपने जीवन से आलस्य को त्याग दिया , चाणक्य जी भी कहते है , अगर जीवन में कामयाब होना चाहते हो , तो आज ही अपने आलस्य को छोड़ दो |

 

सुनी बात पर विश्वास न करे

दुनिया में बहुत तरह के लोग होते है, जो हर समय इस इन्सान कि बात उस इन्सान के पास तक पहुचाते रहते है , और उस बात में अपनी भी बात जोड़ते रहते है , जिससे की उनका भी फायदा हो सके , अगर आप ऐसे लोगो की बात पर विश्वास करते है , तो आप अपने जीवन में बहुत ही जल्द मुश्किल में पड़ जायेंगे | और आपका बना बनाया काम भी बड़ी आसानी से ऐसे लोग बिगाड़ देते है , तो कभी भी किसी इन्सान पर भरोसा न , और भरोसा तभी करे जब आप अपनी आखो से देख ले और कानो से सुन ले

कभी नीच लोगो के साथ न रहे

चाणक्य जी कहते है , कभी भी समाज में ऐसे लोगो के साथ नहीं रहना चाहिए, जो लोग नीच हो, जिनकी समाज में कोई इज्जत न हो , क्योकि ऐसे इन्सान अपने फायदे के लिए किसी भी हद तक जा सकते है, और इससे आपके जीवन में बहुत सारी समस्या आ सकती है |

 

ज्यादा क्रोध न करना

इन्सान को क्रोध नहीं करना चाहिए, लेकिन हम लोग जब ऐसी बाते सुन लेते है , जो शायद हमने किया ही नहीं होता है, तो हम लोग अपने आप से बाहर हो जाते है, जब इन्सान पर क्रोध सवार हो जाता है , तो वह कुछ भी कर सकता है, चाणक्य जी कहते है, कि हमें अपने आप पर क्रोध को सवार नहीं होने देना चाहिए, बल्कि क्रोध को अपने जूनून में बदल देना चाहिए, जब इन्सान अपने क्रोध को जूनून में बदल देता है , तो उसे सफल होने से कोई नहीं रोक सकता |

पद-प्रतिष्ठा

यदि आप किसी बहुत बड़े पद पर हैं और समाज में बहुत मान-सम्मान प्राप्त होता है तो इस बात को भी गुप्त रखना चाहिए। किसी अन्य व्यक्ति के सामने इस बात को जाहिर करेंगे तो इससे अहंकार का भाव पैदा होता है। अहंकार पतन का कारण बनता है और इससे हमारी प्रतिष्ठा कम हो सकती है।

घर-परिवार के झगड़े

हर किसी के घर में वाद-विवाद होते रहते हैं, ये बहुत ही आम बात है, लेकिन आपसी झगड़े घर के बाहर किसी को भी नहीं बताने चाहिए। ऐसा करने पर समाज में परिवार की प्रतिष्ठा कम होती है। परिवार का अहित चाहने वाले लोग हमारे आपसी झगड़े से लाभ उठा सकते हैं। इसलिए कभी घर कि बात को बाहर वालो से न बताये |

गुलाम बनकर रहना

किसी इन्सान को गुलाम बनकर रहना उसके भविष्य के लिए अच्छा नहीं होता है । क्योकि एक गुलाम अपनी मर्जी से कोई भी काम नहीं कर सकता है , उसे कोई काम करने के लिए पहले दूसरों की अनुमति लेना पड़ती है। गुलाम बनकर रहने वाले पुरुष की आजादी पूरी तरह छीन जाती है। ये जीवन भयंकर कष्ट देता है। इसलिए कभी भी किसी का गुलाम बनकर न रहे |

 

चाणक्य के अनमोल विचार : Chanakya Quotes In Hindi


Chanakya Quotes 1

उम्र कम पड़ जायेगा अगर अपने ही ऊपर प्रयोग करके सीखोगे , इसलिए दूसरो की गलतियों से सीखो |

Chanakya niti  in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 2

कुबेर भी अपनी कमाई से ज्यादा खर्च करे, तो वह भी कंगाल हो जायेगा |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 3

कोई भी काम Start करने के पहले तीन Question अपने आपसे पूछो – मैं ऐसा Q करने जा रहा हूँ ? इसका Result क्या होगा ? क्या मैं Successful रहूँगा ?

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 4

अनुभूति में भगवान होता है , न कि मूर्तियों में, और आत्मा ही आपका मंदिर है|

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes  5

इन्सान जन्म से नहीं बल्कि अपने कर्मों से महान होता है |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 6

मर्द का विवेक और औरत की सुन्दरता दुनिया की सबसे बड़ी ताकत होती है |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 7

अंधे के लिए दर्पण और अज्ञानी के लिए किताबें एक समान होती है |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 8

जो लोग अपने रहस्यों को बता देते है, उनकी ये आदत आपके आपके लिए ही घातक सिद्ध होती है |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 9

किसी मुर्ख की तारीफ सुनने से बेहतर है , कि एक बुद्धिमान की गाली सुनना |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 10

बुद्धिमान इन्सान का कोई भी दुश्मन नहीं होता है |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 11

दुष्ट औरत किसी बुद्धिमान इन्सान के शरीर को कमजोर बना सकती है |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 12

अगर अपनी माँ भी दुष्ट हो तो उसका भी त्याग कर देना चाहिए |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 13

अगर जहर हाथ में फैल रहा हो , तो उस हाथ को भी काट देना चाहिए |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 14

औरत के अन्दर मर्दों की अपेछा लज्जा 4 गुना ,साहस 6 गुना होता है |

Chanakya niti  in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 15

जंगल में लगा सीधा पेड़ सबसे पहले काटा जाता है, इसलिए किसी भी इन्सान को बहुत ईमानदार और सीधा साधा नहीं होना चाहिए|

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 16

हर दोस्ती के पीछे कोई न कोई स्वार्थ जरूर होता है|

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 17

दोस्तों अपने बराबर वालो के साथ करो, वही आपके लिए सुखदाई होगा |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 18

इस दुनिया में न कोई तुम्हारा दोस्त है न दुश्मन , तुम्हारा अपना विचार ही, आपको उस काबिल बनाता है|

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 19

फूलों की महक केवल हवा की दिशा में ही फैलती है. लेकिन एक इन्सान की अच्छाई हर दिशा में फैलती है |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Chanakya Quotes 20

दुश्मन मित्र तभी बनता है , जब कोई खास बात हो |

Chanakya niti in hindi (चाणक्य नीति )

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *