दही (छाछ) के फायदे – Buttermilk Benefits In Hindi

दही (छाछ) के फायदे – Buttermilk Benefits In Hindi


1. हर दिन दही खाने से पेशाब जलन की समस्या नहीं होती है।

2. मेथी पाउडर को छाछ में मिलाकर पीने से पेशाब दर्द बंद हो जाता है।

3. खून के दस्त (आँव ) आने पर प्याज़ को काटकर, पानी से धोकर ताजे दही के साथ खाने से लाभ होता है।

4. दही, सेका हुआ जीरा, नमक और काली मिर्च डाल कर हर दिन खाने से अपच दूर हो जाता है, भोजन शीघ्र पच जाता है।

5. सुबह छाछ में नमक मिलाकर पीने से पेट के कीड़े ( कृमि ) मर जाते हैं।

6. काली मिर्च एक ग्राम पीसकर छाछ या मढे के साथ देने से पेट के कृमि दूर हो जाते हैं।

7. 200 ग्राम दही में चुटकी भर फिटकरी घोल कर पीने से पीलिया शीघ्र ठीक हो जाता है।

8. जलोदर रोगी को छाछ पिलाने से राहत मिलती है।

9. छाछ, बथुआ, लीची, अनार, जामुन, चुकन्दर, आलूबुखारा खाने से लिवर (यकृत) को शक्ति मिलती है और कब्ज से भी दूर करता है।

10. सप्ताह में दो बार दही से बालों को धोने से फरास ठीक हो जाती है।

11. एक कप दही में नमक मिलाकर बिलो लें, फेट लें। इससे बालों को मल कर धोयें। फरास दूर हो जायेगी।

12. आधा कप दही में दस पिसी हुई काली मिर्च, एक नीबू निचोड कर मिला लें। इसे बालों पर लगा लें और बीस मिनट रहने दें, फिर सिर धोएँ इससे बाल मुलायम और काले हो जायेंगे।

13. 2 कप दही में 2 केले को मैश करें और 1 चम्मच शहद मिलाकर खाने से टाइफाइड बुखार से छुटकारा मिलता है।

14. 2 चम्मच धनिया के ताजे रस को 1 कप छाछ में मिलाकर पीने से मियादी बुखार दूर हो जाता है।

15. छाछ पीने से हर चौथे दिन आने वाला मलेरिया ठीक होता है।

16. जीभ पर छाले होने पर दो केले दही के साथ प्रात:काल सेवन करें।

17. छाछ में नमक और पीसी हुई अजवाइन मिलाकर पीने से बवासीर में लाभ होता है।

18. सूखे आँवले को बारीक पीसकर एक चाय की चम्मच सुबह-शाम दो बार छाछ या दूध के साथ लेने से खूनी बवासीर में लाभ होता है।

19. 60 ग्राम काले तिल चबा-चबाकर खाकर, दही का सेवन करने से बवासीर से रक्त आना बन्द हो जाता है।

20. छाछ पीना सफेद दागों में उपयोगी है। यह दो बार नित्य पीयें।

21. अरहर की दाल को दही के साथ पीस कर लगाने से खुजली में लाभ होता है।

22. बेसन को छाछ में गौंद कर चेहरे पर लेप करें। मुँहासे ठीक हो जायेंगे।

23. छोटे बच्चों को नित्य छाछ पिलाने से दांत निकलने में कष्ट नहीं होता और दांत का रोग भी नहीं होता।

24. दही खिलाने से भाँग का नशा उतर जाता है। छाछ खट्टी छाछ पीने से भाँग का नशा उतर जाता है।

25. छाछ में काला नमक और अजवाइन मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है।

26. करीब 50 पत्ते करौंदे के पीस कर छाछ में मिलाकर रोजना 15 दिन पीने से मिरगी आना बन्द हो जाता है।

27. आँतों का सूजन दूर करने के लिए दही का सेवन करने  से ठीक हो जाता है।

28.लू लगने पर कैरी की छाछ पीने से लाभ होता है।